इस साल 101 आतंकियों को उतारा मौत के घाट, सुरक्षाबलों को मिली बहुत बड़ी कामयाबी:

पूरी दुनिया इस समय कोरोना जैसे महामारी से लड़ रही है। और अपनी पूरी शक्ति लगा चुकी है परंतु वह इससे जीत नहीं पा रही। भारत एक ऐसा देश है जो कोरोना के साथ-साथ आतंकवाद भूकंप सुनामी समुद्री लहरें आदि से लड़ रहा है। दुनिया के सबसे बड़ी आपदा आतंकवाद की है जिस से छुटकारा पाने के लिए प्रत्येक देश अपनी सैन्य शक्ति मजबूत करता है।
सेना के जवानों ने शारीरिक दूरी को बनाए रखते हुए कोरोना को तो मात दे ही दिया परंतु इसके साथ साथ उन्होंने आतंकियों को भी धूल चटा रखा है।इस साल देश के जवानों ने 100 से ज्यादा आतंकियों को मार के ढेर कर दिया है। इस के उपलक्ष में देश की जनता जवानों के लिए ढोल नगाड़े घंटियां भी बजाई है।
मार्च महीने के दौरान आतंकवाद विरोधी अभियानों में थोड़ी कमी थी, लेकिन अप्रैल से परिचालन में तेजी आई है। उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान और उसके आतंकवादी समूह इस समय सदमे की स्थिति में हैं क्योंकि इस साल रियाज़ नाइकू-हिजबुल कमांडर, कारी यासिर-जैश कमांडर, मुज़फ़्फ़र अहमद भट-लश्कर, हर्मन वानी-हिज़बुल जैसे शीर्ष आतंकवादी कमांडरों को सुरक्षाबलों ने धूल चटाई है।

Advertisement