शरद पवार ने राहुल गाँधी को फिर कर दिया जलील, 1962 की याद दिलाते हुए कहा…

चीन के साथ तनाव को लेकर राहुल गाँधी पीएम मोदी पर लगातार हमलावर है. वो आरोप लगा रहे हैं कि पीएम मोदी ने चीन के आगे सरेंडर कर दिया. चीन ने भारत की जमीन हड़प ली. अब महाराष्ट्र में कांग्रेस की सहयोगी एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार ने राहुल गाँधी को लताड़ लगाते हुए उन्हें आइना दिखाया है. शरद पवार ने राहुल गांधी को 1962 की याद दिलाई और राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे गंभीर मसलों पर राजनीति न करने की सलाह दी.

शरद पवार ने राहुल गाँधी को आइना दिखाते हुए कहा, ‘हम नहीं भूल सकते कि 1962 में क्या हुआ था. चीन ने हमारी 45 हजार स्क्वेयर किमी जमीन पर कब्जा कर लिया था. वर्तमान में मुझे नहीं पता कि चीन ने जमीन ली है या नहीं, मगर इस पर बात करते वक्त हमें इतिहास याद रखना चाहिए. राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर राजनीति नहीं करनी चाहिए.’ शरद पवार ने आगे कहा, ‘‘मुझे अभी युद्ध की कोई आशंका नहीं दिखती है. हालांकि चीन ने जाहिर तौर पर हिमाकत तो की है. गलवान में भारतीय सेना ने जो भी निर्माण कार्य किया है वह अपनी सीमा में किया है.’

इससे पहले भी सर्वदलीय बैठक में भी शरद पवार ने राहुल गाँधी को राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे गंभीर मसलों का सम्मान करने और संभल कर बोलने की सलाह दी थी. जब राहुल गाँधी ने पीएम मोदी पर आरोप लगे एकी सैनिकों को निहत्थे क्यों भेजा गया तो शरद पवार ने सोनिया गाँधी के सामने ही राहुल को नसीहत देते हुए कहा था, ‘चीन सीमा पर सैनिक ह’थियार लेकर गए थे या नहीं, यह अंतरराष्ट्रीय समझौतों द्वारा तय होता है. समझौतों का पालन करते हुए इस तरह के कदम उठाये जाते हैं. हमें ऐसे संवेदनशील मुद्दों का सम्मान करना चाहिए. आपको बता दें कि शरद पवार 1991 से 1993 तक नरसिम्हा राव सरकार में देश के रक्षा मंत्री थे.



Advertisement