20 जवानों की श-हा-दत पर राहुल गाँधी ने साधा सरकार पर निशाना तो संबित पात्रा ने दिया ये जवाब

लद्दाख के हालात पर भारत में राजनीति तेज हो गई है. भारत के राजनीतिक दल हर मौके पर राजनीति करना जानते हैं. जब सरकार और देश के साथ एकजुटता से खड़े होने का वक़्त है. लद्दाख के गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद अब भारत सरकार भी एक्शन में आ गयी है. सेना को तो पहले से ही खुली छूट दी हुई है. वहीँ अभी हाल ही में हुई झड़प के बाद दोनों देशों के बीच तनाव का माहौल बना हुआ है.

जानकारी के लिए बता दें लद्दाख के गलवान घाटी में हुई झड़प में भारत के 20 सैनिक लोहा लेते हुए श-ही-द हो गये. उनकी श-हा-दत को लेकर देश में राजनीति तेज हो गयी है. विपक्षी दल ऐसी स्थिति में सरकार पर निशाना साधने में लगे रहते हैं लेकिन कभी कभी उनका ये पैंतरा उन्हें भारी पड़ जाता है. कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने चीनी सैनिकों के साथ हुई इस झड़प के बाद सरकार पर निशाना साधते हुए एक बात कही थी.

राहुल गांधी ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि ‘चीन ने हिंदुस्तान की जमीन हड़पी है. प्रधानमंत्री जी आप कहां छिप गए हैं, आप बाहर आइए. पूरा देश एक साथ आपके पीछे खड़ा है. बाहर आइए और बिना डरे हुए देश को सच्चाई बताइये.’ राहुल गाँधी अक्सर अपने बयानों के चलते चर्चा में बने रहते हैं और लोगों के निशाने पर आ जाते हैं. उन्होंने इस मामले को लेकर जब सरकार पर निशाना साधा तो बीजेपी के तेजतरार्र प्रवक्ता संबित पात्रा ने उन्हें तगड़ा जवाब दिया है.

गौरतलब है कि संबित पात्रा ने कहा कि “प्रधानमंत्री कोई एक व्यक्ति नहीं होता. प्रधानमंत्री किसी पार्टी का प्रधानमंत्री नहीं होता. प्रधानमंत्री हम सब का एक प्रधानमंत्री होता है. नरेंद्र मोदी बीजेपी के प्रधानमंत्री नहीं हैं. वो हम सबके प्रधानमंत्री हैं. वो सोनिया गांधी के प्रधानमंत्री हैं, राहुल गांधी के प्रधानमंत्री हैं और आपके भी प्रधानमंत्री हैं. लोकतांत्रिक तरीके से हम सबके प्रतिनिधि हैं. ऐसे में जब डरा हुआ या छिपा हुआ प्रधानमंत्री कहा जाता है, तो ये आक्रमण किसी एक व्यक्ति पर नहीं बल्कि पूरे हिन्दुस्तान पर है. 20 जवानों की शहादत को डरा हुआ बताना, छिपा हुआ बताना, देश के लिए गैरजिम्मेदाराना है.”



Advertisement