मोदी सरकार कर रही अनलॉक 2.0 की तैयारी, जानिये इस फेज में क्या क्या राहत मिल सकती है

देश में कोरोना के कुल मामले साढ़े चार लाख को पार कर चुके हैं. हालाँकि ये भी एक तथ्य है कि एक्टिव केसों की संख्या पौने 2 लाख के करीब है. सबसे बुरे हालात दिल्ली के हैं. दिल्ली में कोरोना के मामले 70 हज़ार को पर कर चुके हैं. लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों के बावजूद देश अनलॉक1.0 से अनलॉक2.0 की तरफ बढ़ रहा है. अनलॉक 1.0 में शॉपिंग मॉल, घरेलू हवाई सेवा, कैब, सैलून सब खुल गए. लेकिन एहतियात के तौर पर अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा, शिक्षण संस्थान, जिम, नियमित ट्रेन सेवा और मेट्रो पर रोक थी. अब जबकि देश अनलॉक 2.0 की तरफ बढ़ रहा है तो लोगों को उम्मीद है कि अनलॉक 2.0 में और अधिक रियायतें मिलेंगी.

अनलॉक 1.0 में जिस तरह से कोरोना के मामले तेजी से बढे उससे ये उम्मीद तो कम ही है कि मेट्रो सेवा शुरू हो पाए. रेलवे ने पहले ही 12 अगस्त तक ट्रेने कैंसल करने की घोषणा कर दी है. जो स्पेशल ट्रेन पहले से चलती आ रही है वो चलती रहेंगी. रेलवे ने तो सर्कुलर जारी कर साफ़ कह दिया है कि सभी ट्रेनें 15 अगस्त के बाद ही चल पाएंगी. सभी जोन से कहा गया है कि 14 अप्रैल या उससे पहले बुक किए गए सभी टिकटों का रिफंड कर दिया जाए.

देश के साथ साथ दुनिया के कई देशों में अब भी कोरोना के मामले चरम पर हैं. ऐसे में हाल फिलहाल में अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा भी अभी बंद ही रहेगी. स्कूल, कॉलेज समेत दूसरे शिक्षण संस्थानों के खुलने की संभावना भी न के बराबर है. ज्यादार राज्यों ने अपने पेपर पहले ही कैंसल कर दिए हैं. CBSE हो या ICSE बोर्ड पेपर कैंसल हो चुके हैं. जिस तरह से अनलॉक 1.0 में कई फैस्लोए राज्य सरकारों पर छोड़ा गया था, उसी तरह से अनलॉक2.0 में भी कई फैसले राज्य सर्कारोंब पर छोड़ा जा सकता है. हालाँकि कई राज्यों ने पहले ही लॉकडाउन को बढाने का ऐलान कर दिया है.



Advertisement