भारत सरकार ने टिक टॉक समेत 59 चीनी एप्लीकेशन को ब्लॉक करने का लिया निर्णय


भारत और अमेरिका की ख़ुफ़िया एजेंसियां चाइनीज ऍप्लिकेशन्स को इस्तेमाल न करने के लिए हमेशा आगाह करती है क्यों की ये ऍप्लिकेशन्स यूजर से ऐसे ऐसे परमिशन मांगते हैं  जिनकी इनको जरूरत ही नहीं रहती.



उदहारण के लिए शेयर इट को ही ले लीजिए जब तक आप उसको लोकेशन एक्सेस की परमिशन नहीं देंगे आप एक फ़ोन से दूसरे फ़ोन में डाटा ट्रांसफर नहीं कर पाएंगे अब सोचने वाली बात यह है की डाटा ट्रांसफर करने में लोकेशन आन करना क्यों जरूरी है जबकि वाई फाई और हॉटस्पॉट के जरिये तेजी से डाटा ट्रांसफर हो सकता है. इसके आलावा और भी बहुत से चाइनीज एप्लीकेशन है जो कॉल एक्सेस, लोकेशन इन्फो, एक्सेस कांटेक्ट, एक्सेस माइक्रोफोन जैसे परमिशन मांगते है जो बैकग्राउंड में रन करके आपकी प्राइवेसी को खतरे में डाल सकती है और आपकी पर्सनल जानकारी भी चुरा सकती है. हाल ही में अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी ने चाइनीज एप्लीकेशन को देश की सुरक्षा के लिये  खतरा बताया. भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने IT एक्ट 69A के तहत 59 चाइनीज एप्प्स को बैन करने का निर्णय लिया है. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अनुसार चाइनीज एप्लीकेशन भारत की राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए घातक साबित हो सकती है. बैन की गई एप्प्स की सूची निम्न वत  है...

TikTok, Shareit,Kwai,UC Browser,Baidu map ,Shein ,Clash of Kings ,DU battery saver ,Helo ,Likee,YouCam makeup , ,Photo wonder ,We Meet ,Sweet Selfie ,Baidu Translate ,Vmate ,QQ International ,QQ Security Center ,QQ Launcher ,U Video ,V fly Status Video ,Mobile Legends ,DU Privacy ,WeChat ,UC News, QQ Mail ,Weibo, Xender,QQ Music ,QQ Newsfeed ,Bigo Live ,SelfieCity ,Mail Master ,Parallel Space ,  Mi Video Call – Xiaomi ,WeSync ,ES File Explorer ,Viva Video – QU Video Inc ,Cache Cleaner DU App studio ,DU Cleaner,Mi Community,CM Browers ,Virus Cleaner ,APUS Browser ,ROMWE Club Factory ,Newsdog ,Beutry Plus , ,DU Browser ,Hago Play With New Friends ,Cam Scanner ,Clean Master – Cheetah Mobile ,Wonder Camera.


Advertisement