लद्दाख में चीन ने किया भारत के सैनिकों के साथ धोखा, निहत्थे लड़ते रहे भारत के जवान:

भारत और चीन के बीच हुए हिंसक झड़प में जो सोमवार को रात चीन के सैनिकों द्वारा किया गया उसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए तथा भारत के जवानों ने निहत्थे चीनी सैनिकों को सबक सिखाते हुए 43 जवानों को मौत के घाट उतार दिया। भारत को कोई भी हथियार उपयोग ना करने का निर्देश था जबकि चीनी सैनिकों ने हाथ में पकड़ तथा कांटेदार जालो का प्रयोग करके इस काम को अंजाम दिया था।सूत्रों से पता चला है कि चीन ने सबसे पहले इमेजिंग ड्रोन का प्रयोग करके भारत के सैनिकों की संख्या ज्ञात की और उसके पश्चातसंख्या के 5 गुने जवानों को भेजकर हिंसक झड़प में शामिल करा दिया।
चीन के जवानों ने भारत के जवानों के आखिरी सांस तक टॉर्चर किया। फिर भी वे लड़ते हुए हालात को संभालने की कोशिश करते रहे। भारत और चीन की यात्रा लगभग शाम 4:00 बजे से रात को 12:00 बजे तक चलती रही जिसमें भारत के 30 जवान शहीद हो गए और 135 जवान जख्मी। जख्मी जवानों में से चार की हालत बहुत ही नाजुक है। चीन के भी 43 जवान इस मुठभेड़ में शहीद हो गए हैं।

Advertisement