भारतीय राजनयिक को इस मामले में फं’सा कर इस्लामाबाद पुलिस ने किया गि’रफ्तार

एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना वायरस के खि’लाफ जं’ग लड़ रही है. वही दूसरी तरफ पाकिस्तान अपनी नापा’क हर’कतों से बाज आने को तैयार नहीं है. दरअसल पाकिस्तान की आ’तंकियों को भारत की सरह’द में भेजने की सारी कोशिश ना’काम हो रही है जिसकी वजह से पाकिस्तान बुरी तरह से बौख’लाया हुआ है. जिसके कारण अब वो नए नए पै’तरे अपना रहा है. तभी भारत में त’नाव की स्थिति को पैदा कर सके.

इसके लिए पाकिस्तान की खुफि’या एजेंसी ISI इस्लामाबाद में तैना’त भारतीय राजनयिकों को परेशान करना शुरू कर दिया है. दरअसल इस्ला’माबाद ने भारत के दो अधिकारियों को गिर’फ्तार कर लिया है और उन पर हि’ट एंड रन का मामला द’र्ज किया है. दरअसल मिली जानकारी के मुताबिक दूतावास के पास की सड़क पर भारतीय राजनयिकों की बीएमडब्लू कार से एक पाकिस्तानी नागरिक का एक्सी’डेंट हुआ था लेकिन उन्होंने वहां से भागने की कोशिश की.  जिसके बाद इस्लामाबाद पुलिस ने अतंरराष्ट्रीय नि’यम-कानू’नों को ता’क पर रखते हुए भारतीय राजनयिकों को कथित तौर पर गिर’फ्तार कर लिया.

बता दें डिप्लोमे’टिक का’नूनों के तहत कोई भी देश किसी भी दूसरे देश के राजनयिक को हि’रासत में नहीं ले सकता है. वही सहयोगी चैनल टाइम्‍स नाउ के हवा’ले से मिली जानकारी के मुताबिक दोनों अधिकारी केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के हैं और सुबह करीब 8.30 बजे ड्राइवर ड्यूटी पर बाहर गए थे. जिस पर मिली जानकारी के अनुसार भारत ने अधिकारियों के ला’पता होने के मु’द्दे को पाकिस्‍तान सरकार से उठाया था और इन अधिकारियों की तला’श की जा रही थी.  

इसके अलावा अगर बात की जाये नियम की तो निय’म यह है कि गिरफ्तारी संबंधी किसी भी माम’ले में सबसे पहले संबंधित दूतावास को बताना जरुरी होता है. साथ ही आर्टि’कल 31 के अनुसार कोई भी मेजबा’न देश किसी दूसरे देश के राजनयिक को हि’रासत में नहीं ले सकता और न ही दूतावास में मेजबान देश की पुलिस प्रवेश कर सकती है. लेकिन उस दूतावास में सुरक्षा की जिम्मेदारी मेजबान देश की होती है.



Advertisement