उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार 'लल्लू' का बयान, जेल की दीवारें उनके मजबूत इरादों को नहीं रोक सकती:

उत्तर प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को 26 दिनों बाद जेल से रिहाई मिली है उन्होंने लॉकडाउन के दौरान बसों में की गई कागज की फेरा बदली में उनको आगरा से पुलिस ने पकड़ा था । 26 दिनों के जेल यात्रा के बाद भी लल्लू का बयान है कि जेल की दीवारें उनके मजबूत इरादों को नहीं रोक सकते। जेल के निकलते हैं उनके स्वागत के लिए बहुत सारे लोग इकट्ठा हो गए।
उनके तेवर साफ संकेत दे रहे थे कि यह जेल यात्रा पार्टी के अंदर और बाहर उनका सियासी कद बढ़ाने में सफल रही हैं। उन्होंने नेतृत्व को धन्यवाद देते हुए ऐलान भी किया- वह डरने वाले नहीं, सेवा कार्य जारी रहेगा। जेल की दीवारें उनके मजबूत इरादों को रोक नहीं सकतीं।
कांग्रेस नेताओं का कहना है कि आज बहुत दिनों बाद ऐसा हुआ है कि जब प्रदेश अध्यक्ष के साथ इतने लोग इकट्ठा हैं।
हालांकि, लल्लू ने कोई भाषण नहीं दिया अपने कमरे में नेताओं से मिलते रहे। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह राहुल गांधी के सिपाही हैं, वंचितों, पिछड़ों और गरीब मजदूरों की लड़ाई के लिए एक बार क्या एक हजार बार जेल जाने के लिए तैयार हैं।

Advertisement