भारत चीन तनाव के बाद नेपाल बन सकता है , आतंकियों का बसेरा,सेना द्वारा मरा गया एक नेपाली आतंकी कमांडर:

भारत चीन के बीच बढ़ रहे तनाव के बीच जिस तरह से नेपाल ने अपना रूप बदला है ।इससे जाहिर होता है कि वह भारत के खिलाफ आतंकियों का पनाहगार भी बन सकता है। आपको बता दे की कुछ दिनों पहले भारतीय सैनिकों द्वारा सीमा के पास एक आतंकी को मर गिराया गया ,जिसके बाद उसके पहचान से पता चला कि उसका नाम अशरफ आजमी अबु हमदान है और वह नेपाल का निवासी है। इसके बाद अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा कि भारत का एक पड़ोसी देश नेपाल आतंकवादियों का हैवेन लैंड बन सकता है. यानी भारत के लिए आतंक के मसले पर एक साथ दो चुनौतियां सिर उठा सकती है।
गौरतलब है कि सोमालिया में कट्टर इस्लामिक आतंकवादी संगठन अल शबाब के खिलाफ चलाए जा रहे अभिय़ान में सोमालियाई सेना ने दो दिन पहले संगठन के एक प्रमुख कमांडर को मार गिराया था. जांच में वह नेपाल का नागरिक निकला, जिसका नाम अशरफ आज़मी अबु हमदान था. सोमाली नेशनल आर्मी के ब्रिगेडियर जनरल इस्माइल अब्दालीलिक मालिन ने स्थानीय सोमाली रेडियो से बातचीत करते हुए कहा कि उन्होंने नेपाल के एक वरिष्ठ अल-शबाब प्रशिक्षण अधिकारी को मार गिराया है।
अमेरिकी विदेश विभाग की आतंकवाद रिपोर्ट-2019 बताती है कि अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी संगठन नेपाल को ट्रांजिट प्वाइंट सॉफ्ट टारगेट के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि भारत के साथ खुली सीमा होने देश के एकमात्र अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सुरक्षा प्रक्रिया अपर्याप्त होने से नेपाल अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादियों के लिए एक हेवेन लैंड बन सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक नेपाल को अब आमतौर पर आतंकवादी संगठनों के लिए एक उपजाऊ जमीन माना जाता है. रिपोर्ट में इस बात की आशंका जताई गई है कि नेपाल ने आतंकवादी भर्ती के मामले को गंभीरता से नहीं लिया है।

Advertisement