"मै साँस नहीं ले पा रहा हूँ डैडी" और थोड़ी ही देर में हुई कोरोना से दर्दनाक मौत, अस्पताल प्रशासन पर वेंटिलेटर हटाने का आरोप

26 साल के कोरोना पीड़ित युवक ने अपनी मौत से पहले पिता को वीडियो भेजा. वीडियो में युवक ने कहा की वो साँस नहीं ले पा रहा है. साथ ही युवक ने अस्पताल प्रशासन के ऊपर वेंटिलेटर हटाने का आरोप लगाया.



उपरोक्त घटना हैदराबाद की है जहाँ बीते शुक्रवार को एक 26 वर्षीय कोरोना पीड़ित मरीज ने अपने सेल्फी कैमरे से वीडियो शूट किया. युवक ने वीडियो में अस्पताल प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा" उन्होंने वेंटिलेटर हटा दिया है मै पिछले तीन घंटो से ऑक्सीजन सपोर्ट के लिए अनुरोध कर रहा हूँ लेकिन वे कोई जवाब नहीं दे रहे हैं. मेरे दिल ने काम करना बंद कर दिया है और सिर्फ फेफड़े काम कर रहे है लेकिन मै सांस नहीं ले पा रहा हूँ  डैडी, बाय डैडी सभी को बाय बाय डैडी...... . वीडियो भेजने के कुछ ही देर बाद युवक की मौत हो गई. उपरोक्त मामला तब सामने आया जब रविवार को युवक द्वारा भेजा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. अस्पताल प्रशासन वेंटिलेटर हटाने के आरोपों को नकार रहा है. अस्पताल के अधीक्षक महबूब खान ने आरोप का खंडन करते हुए कहा " उसे वेंटिलेटर  का सपोर्ट दिया गया था लेकिन मरीज इतनी गंभीर हालत में था की उसे ऑक्सीजन की आपूर्ति महसूस नहीं हो रही थी और उसकी अचानक से मौत हो गई." बेटे के मौत से दुखी पिता ने बताया "मेरे बेटे को 24 जून से तेज बुखार था कुछ अस्पतालों में दिखाने के बाद आखिरकार उसे चेस्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया और 26 जून को उसकी मौत हो गई."

Advertisement