आंखें नम,लेकिन गर्व के जज्बे के साथ शहीद जवानों का अंतिम संस्कार

लद्दाख की गलवान घाटी में 15-16 जून को भारत और चीन सेना के बीच हिंसक झड़प हुई, जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए. अब उन शहीदों का पार्थिव शरीर उनके गांव-घरों को ले जाया जा रहा है और गार्ड ऑफ ऑनर देकर उनका अंतिम संस्कार किया जा रहा है.

ये तस्वीरें है तेलंगाना के सूर्यापेट से शहीद कर्नल संतोष बाबू के गार्ड ऑफ ऑनर सेरेमनी कीं. संतोष बाबू 16 बिहार रेजीमेंट के कमांडिंग ऑफिसर थे. गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ झड़प में उन्होंने अपनी शहादत दी है.

अंतिम संस्कार के पहले सेना ने उन्हें गाजे-बाजे के साथ अंतिम संस्कार के पहले सम्मान दिया.

पटना के रहने वाले शहीद हवलदार सुनील कुमार ने भी चीनी सेना के साथ झड़प में अपनी शहादत दी है. बिहार रेजीमेंट ने सम्मान के साथ उनकी अंतिम यात्रा निकाली.

सोमवार रात पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल समेत 20 सैनिक शहीद हो गए थे.



Advertisement