नेपाल की ओली सरकार पर सट्टा का घमासान युद्ध, प्रधानमंत्री पद से दे सकते हैं इस्तीफा:

भारत और चीन के बीच बढ़ते सीमा विवाद के बाद चीन के अंगुलियों पर नाच रहा नेपाल में भी भारत के प्रति अपनी दुश्मनी मोल ली है उसने संसद में अपने नए नक्शे को प्रस्तावित किया है जिसमें भारत के कुछ निजी जमीनों को दर्शाया है जिससे यह जाहिर हो रहा है कि वह भारत के प्रति अच्छी भावनाएं नहीं रख रहा।
इसके बाद बता दें कि नेपाल में सियासत रोका दौर इस प्रकार चल रहा है कि प्रधानमंत्री होली को अपना इस्तीफा भी देना पड़ सकता है। ओली में अब इतनी भी हिम्मत नहीं बची है कि वो अपने घर पर अपनी ही पार्टी की बैठक से गायब हो जाते हैं। ओली ने अपनी बैठक में उठ रहे सवालों का जवाब देने के बजाए एक सार्वजनिक समारोह में भारत को लक्षित करते हुए आरोप लगाया कि उनकी सरकार गिराए जाने की साजिश रची जारही है। जबकि सच्चाई यह है कि ओली और प्रचण्ड के बीच प्रधानमंत्री पद की अदला-बदली पर समझौता हुआ था। निर्धारित समय बीत जाने के बाद भी ओली ने प्रधानमंत्री ओली ने पद नहीं छोड़ा है।

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की कुर्सी पर खतरे के बादल लगातार बढ़ते जा रहे हैं। सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी में मचे घमासान और देश में सरकार के खिलाफ जारी गुस्से से ध्यान भटकाने के लिए पीएम ओली अब उग्र राष्ट्रवाद का प्रयोग कर रहे हैं। उन्होंने अपनी पार्टी में मचे घमासान को लेकर भारत पर इशारों-इशारों में आरोप लगाते हुए कहा कि एक दूतावास मेरी सरकार के खिलाफ होटल में साजिश रच रहा है।

मदन भंडारी की 69 वीं जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने कहा कि भले ही उन्हें पद से हटाने का खेल शुरू हो लेकिन यह असंभव है। प्रधानमंत्री ओली ने दावा किया था कि काठमांडू के एक होटल में उन्हें हटाने के लिए बैठकें की जा रही है और इसमें एक दूतावास भी सक्रिय है।

Advertisement