भारतीय नेवी ने हिंद महासागर पर, बढ़ई अपनी शक्ति,, हिंद महासागर पर चीन कर सकता है चढ़ाई:

भारत और चीन के बीच हुए हिंसक झड़प के बाद पूरी दुनिया जान गई है कि चीन अपने विस्तार वादी नीतियों का उपयोग दुनिया के प्रत्येक देश पर करना चाह रहा है। ताइवान ने चीन के जंगी जहाजों को अपने क्षेत्र में पाए जाने पर उसे खदेड़ कर बाहर निकाला वहीं जापान चीन के जंगी जहाज और पनडुब्बी को अपने समुद्र में पाकर चीन को चेताया।भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव को देखकर भारत ने हिंद महासागर में अपने नेवी को मजबूत कर रखा है।

रिपोर्ट के अनुसार चीन हिंद महासागर में अपनी पनडुब्बियों की तैनाती कर सकता हैं। चीन भारत पर दवाब बनाने की कोशिश में हैं।

रिपोट की मानें तो साउथ-एशिया क्षेत्र में चीन की सबसे ज्यादा पनडुब्बियां भारत के पास हैं। इस खुलासे के बाद भारतीय नौसेना अलर्ट हो गई हैं और चीन को जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। वहीं, चीन की नौसेना का विस्तार दुनिया के लिए चिंता का सबब है।


चीन के इस विस्तारवादी नीतियों को देखते हुए अमेरिका ने भी एशिया में अपने सैनिकों की तैनाती करने का ऐलान किया था।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने चीनी कम्युनिष्ट पार्टी को भारत समेत एशिया के अन्य देशों के लिए खतरा बताते हुए कहा था, 'हम यह सुनिश्चित करेंगे कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी को काउंटर करें।

माना जा रहा है कि पीस टाइम के समय चीनी पनडुब्बियां स्ट्रेट ऑफ मलक्का के जरिए से हिंद महासागर में प्रवेश कर सकती हैं। इस खुलासे से भारतीय नौसेना अलर्ट हो गई हैं। क्यों की चीन जिस तरह की कायराना हरकत कर रहा है उसतरह से वो कुछ भी कर सकता हैं।

Advertisement