पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत शुरू की ये बड़ी तैयारी जिसे जानने के बाद..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के बाद से देश में आत्मनिर्भर होने के लिए जनता से अपील की थी. उन्होंने कहा था कि हमे लोकल फॉर वोकल बनना होगा. जिसको लेकर पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत निजी छेत्र के लिए 41 कोल ब्लॉक्स की नीलामी की प्रक्रिया की शुरुआत की हैं. इस के साथ मोदी ने कहा कि भारत कोरोना से लडेगा भी और आगे बढेगा भी. भारत इस बड़ी आपदा को अवसर में बदेलगा. इस सं’कट ने भारत  को आत्मनिर्भर होने का सबक दिया है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘आत्मनिर्भर भारत यानि भारत आयात पर अपनी निर्भरता कम करेगा. आत्मनिर्भर भारत यानि भारत आयात पर खर्च होने वाली लाखों करोड़ रुपए की विदेशी मुद्रा बचाएगा. आत्मनिर्भर भारत यानि भारत को आयात न करना पड़े, इसके लिए वो अपने ही देश में साधन और संसाधन विकसित करेगा.’ पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत को लेकर कई और भी बड़ी बाते कही उन्होंने कहा कि एनर्जी सेक्टर में भरता को आत्मनिर्भर बनाने की प्रक्रिया में एक बड़ा कदम उठाने जा रहा हैं. पीएम मोदी ने कहा कि महीने भर के अंदर ही  हर घोषणा, हर रिफॉर्म्स, चाहे वो कृषि सेक्टर में हो, चाहे सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्योग के सेक्टर में हो या फिर अब कोल और खनन के सेक्टर में हो, तेजी से जमीन पर उतर रहे हैं.

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि इस विप’दा में देश को आत्मनिर्भर होने के लिए सबक मिला है और भारत इस आपदा को अवसर में बदले के लिए बहुत गंभीर नजर आ रहा हैं. उन्होंने कहा कि हम आज सिर्फ कोल ब्लाक के लिए ही सिर्फ नीलामी नहीं कर रहें है बल्कि कोल सेक्टर को जो दशकों के लॉक डाउन में था आज उसको भी बाहर निकाल रहें हैं. पीएम ने कहा कि 16 जिले ऐसे है जहाँ पर कोयेले के बड़े बड़े भंडार है. लेकिन जो लोग वहां रहते हैं उनको इसका लाभ नहीं मिला हैं. जितना मिलना चाहिए था. यही वजह है की लोग वहां से पलायन करते हैं. पलायन को रोकने के लिए हम कोल ब्लॉक्स को खोलेंगे और लोगो को रोजगार देंगे.



Advertisement