लद्दाख से बीजेपी सांसद जमयांग सेरिंग ने अक्साई चिन को लेकर दिया ये बड़ा बयान

चीन और भारत के बीच लद्दाख बॉर्डर के पास गलवान घाटी पर त’नातनी बढती जा रही हैं. चीन के इस रवैये को देखते हुए भारत ने भी अब उसको जवाबा देने की ठान रखी है. चीन ने लद्दाख बॉर्डर के पास गलवान घाटी पर दो दिन पहले भारतीय सैनिको पर चोरी छुपे ह’मला कर दिया था. जिसमे हमारे 20 सैनिक श’हीद हुए थे. इसके जवाब में हमारे सैनिकों ने उनके 43 सैनिको को मौ’त के घाट उतार दिया था.

चीन ऐसा इसलिए कर रहा है क्योकि उसको अक्साई चिन को लेकर ड’र सता रहा है कहीं ऐसा न हो की भारत इसको वापस ले लें क्योकि ये अक्साई चिन भारत का ही हिस्सा हुआ करता था. इसको लेकर बीजेपी के लद्दाख के सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने गुरुवार को कहा कि ‘अक्साई चिन भारतीय क्षेत्र है और अब इसे चीनी कब्जे से वापस लेने का समय आ गया है. इंडिया टुडे टीवी से बात करते हुए बीजेपी सांसद ने कहा कि सिर्फ अक्साई चिन ही नहीं, बल्कि गिलगित और बाल्टिस्तान भी लद्दाख का हिस्सा हैं.’

बीजेपी सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने आगे कहा कि ये भारत 1962 वाला भारत नहीं हैं ये भारत 2020 का है. जो चीन को मुहंतोड़ जवाब देने की हिम्मत रखता हैं. जामयांग ने आगे कहा कि भारतीय चरवाहों को अपने चरागाहों में जाना चाहिए जिस पर चीन ने कब्ज़ा कर रखा हैं. उन्होंने कहा कि भारत को इन छेत्रों पर भी अपना दावा करना चाहिए और इसको भी वापस लेना चाहिए.बीजेपी सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने कहा था, ‘मैं गलवान घाटी में भारतीय सेना के सैनिकों के अदम्य साहस और निस्वार्थ बलिदान को सलाम करता हूं. आप सभी ने मातृभूमि के लिए अपनी अंतिम सांस तक अपार साहस दिखाया. आपकी वीरता को हमेशा याद रखा जाएगा. बहादुर सैनिकों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना.’



Advertisement