देश के महान सलाहकार ने बताया युद्ध किसी भी मसले का हल नहीं:

जिस समय पूरी दुनिया कोरो ना जैसे महामारी से लड़ रही है इसके बीच दो महान शक्तियों ने अपने देश की सीमा पर तनाव बनाए रखा है। यह बात भारत और चीन के आपसी विवाद की है जो एलओसी पर फिलहाल चल रही है सूत्रों के हिसाब से पता चला है कि देर रात आप से हिंसा झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं तथा इस हिंसा का खामियाजा चीन ने अपने 43 जवानों को खोकर भरा है। चीन पिछले कुछ दिनों से भारत के सीमा पर बार-बार आगे बढ़ करभारत को परेशान करने की कोशिश कर रहा है।

जरूरत है ऐसे मसलों को लड़ाई के बजाय समझौते से समाधान कर मानव हित में फैसले लिए जाएं। युद्ध से समाधान नहीं होता, बल्कि देश समस्याओं की दशा और दिशा में बढ़ जाते हैं। इतिहास के तमाम युद्ध इसके सबक हैं कि युद्ध केवल बबार्दी का रास्ता हैं। जो इतिहास से सबक नहीं लेते हैं, उन्हें उसका खमियाजा उठाना पड़ता है।

सोमवार की रात चीन की ओर से अचानक हमला कर भारतीय सेना के एक अफसर और 19 जवानों की हत्या करना चीन की कायरतापूर्ण कार्रवाई है।

Advertisement