मणिपुर में कांग्रेस की उम्मीदों को लगा जोरदार झटका, बच गई बीजेपी सरकार

मणिपुर में पिछले एक हफ्ते से एन बीरेन सिंह सरकार पर ख’तरा मंड’रा रहा था. एक समय ऐसा आया जब ऐसा लगा की सरकार गिर जाएगी लेकिन ऐसा हुआ नहीं और मणिपुर में एन बीरेन सिंह ने अपनी सरकार को बचा लिया हैं. केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात के बाद नैशनल पीपल्स पार्टी  के चार मंत्रियों ने एन बीरेन सिंह को समर्थन देते हुए राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला को एक पत्र सौंपा. इसी के साथ राजनीतिक उथल-पुथल लगभग टल गई है.

आपको बता दें कि संगमा और पूर्वोत्तर में बीजेपी के सं’कटमोचक समझे जाने वाले हिमंत बिस्व शर्मा ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह व बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में विधायकों की मुलाकात कराई. चारों ने मुख्यमंत्री के बुरे ब’र्ताव की शिकायत की थी.

संगमा और हिमंत बिस्व शर्मा के साथ ये चार विधायक राजभवन गए जहां से वे मुख्यमंत्री कार्यालय पहुंचे. जहाँ पर बीरेन सिंह विधायक का स्वागत काफी गरमजोशी से किया है और इन चार विधायक के इस्तीफे अभी मंजूर नहीं हुए हैं इसलिए इनको दुबारा शपथ लेने की जरुरत नहीं है और ये मंत्री बने रहेंगे. इसके बाद संगमा ने कहा, ‘नड्डा और शाह के साथ हमारी बैठक हुई और इस गठबंधन के अंग के रूप में हमने अपनी शिकायतें और चिंताएं सामने रखीं. दोनों नेताओं ने हमारी बाते सुनीं और आश्वासन दिया कि सभी मुद्दे निपटाये जाएंगे.’

मणिपुर में सरकार पर ख’तरे की घंटी तब बजी जब एनपीपी ने अपना समर्थन वापस ले लिया. उसके बाद बीजेपी ने वहां की राजनीति के सं’कटमोचन कहे जाने वाले हिमंत शर्मा को भेजा और उसके बाद कई दौर की बैठक हुई. उसके बाद एक बार फिर से विधायक मान गए और बीजेपी ने अपनी सरकार बचा ली.



Advertisement