सुशांत की मौ’त के बाद कंगना रनौत ने बॉलीवुड के बड़े बैनरों की पोल खोल कर रख दी

आज सुशांत सिंह राजपूत हम सभी के बीच में नहीं है. लेकिन वो उन हजारो लाखों लोगो के दिलों में हमेशा रहेंगे. जिनके दिलों को सुशांत ने अपने अभिनय से जीता है. टीवी सीरियल से लेकर बॉलीवुड तक के सफ़र में सुशांत ने अपने लाखों फैंस बनाये और उनका दिल जीता. जिसकी वजह से आज उनके न रहने पर उनके परिवार के साथ साथ उनके फैंस भी शॉ’क में है.

वही सुशांत के सुसा’इड करने को लेकर अब कई तरीके से बॉलीवुड स्टार्स की प्रति’क्रिया सामने आ रही है. जिसमें कंगना रनौत ने कारण जोहर पर आरो’प लगाते हुए कहा कि आउट’साइडर्स को ऊंचा उठने से रोकने के लिए इंडस्ट्री में सा’जिशें की जाती हैं और  सुशांत ने यह क’दम उठाकर उन लोगों को जीत हासिल करवा दी. जो ने’पोटिज्म के पैरोकार हैं.  मूवी माफि’या हैं और खेमे’बाजी में यकीन रखते हैं.

कंगना ने आगे कहा कि अभी तो मैं भी पूरी तरह से सद’मे में हूं. यह तो नहीं मालूम उन्होंने क्या-क्या सहा होगा. जो इस कदम को उठा लिया.  हर इंसान की एक क्राइ’सिस होती है. वो फैमिली से दूर रह रहे थे, मां को खो चुके थे. शायद उनके पास इमो’शनल सपोर्ट बिल्कुल भी नहीं था. ऊपर से जिन लोगों ने आपको फील करवाया कि आप स्टार बनने के लायक नहीं हैं, आप अन’वांटेड हैं.  यह सब सुनकर आपने इस कदम को उठाकर उन लोगों को जिता दिया. उन लोगों की टीम में चले गए.

साथ ही कंगना ने कहा कि सुशांत ने बड़ी-बड़ी फिल्में की हैं. ‘छिछोरे’ अगर किसी स्टार किड ने की होती तो उन्हें बहुत बड़ा स्टार माना जाता.  जब करण के एक करीबी की वेडिंग थी तो उसमें सुशांत को क्यों नहीं बुलाया गया? सुशांत को इ’ज्जत क्यों नहीं दी गई? अपनी पार्टीज में कभी नहीं बुलाया. उन्हें एकदम से डिस्क्रे’डिट करके रखा. वह भी उस इंसान पर जो ‘धोनी’ और ‘छिछोरे’ जैसी अच्छी और सक्से’सफुल फिल्में दे चुका है. इंसान तो सोच में पड़ गया होगा कि यार आखिरकार खुद को प्रू’व करने के लिए अब और क्या करना होगा?

जाहिर है बॉलीवुड इंड’स्ट्री की आगे की चमक सभी को नज़र आती है. लेकिन उसके पीछे का काला सच सिर्फ उसी को पता होता है. जो वहां काम करता है. हर दिन चीज़े झेलता है. इसके अलावा कंगना ने करण पर ह’मला करते हुए बोला कि उसने मुझसे भी एक फिल्म करवाई थी ‘उंगली’. उसने पूरी साजि’श की थी कि मेरा करियर त’बाह कर सके.  पहले कहा कि मेरा 45 मिनट का रोल है.  बाद मेंरोल को 10 से 15 मिनट का कर दिया. यही चीज करण ने सुशांत सिंह राजपूत की ‘ड्राइव’ के साथ की. उसे डिजिटल प्लेटफार्म पर डाल दिया. ये लोग उन साजि’शों को अंजाम देने के लिए खुद का पैसा भी लगाकर डुबोते हैं.

गौरतलब है सुशांत सिंह राजपूत ने अपने करियर को ऊंचाई तक पहुँचाने के लिए बहुत स्ट्र’गल किया. एक आउट’साइडर से स्टार बनने तक का सफ़र अकेले तय किया लेकिन जब अपने अंदर के दर्द और अकेलेपन से हार गया तो दुनिया को ही अलविदा कह गया.



Advertisement