हिमाचल से चीन बॉर्डर तक के गाव सिल , मंडराते देखे लड़ाकू विमान भारतीय सेना ने संभाला मोर्चा:

हिमांचल और चीन के बॉर्डर के बीच 15 किलोमीटर के गांव को सील कर दिया गया है सरकार का कहना है कि बॉर्डर के पास बसे लोग कहीं भी आसपास घूमने ना जाएं।हिमाचल से चीन के बीच लगभग 28 किलोमीटर तक अंतरराष्ट्रीय मार्ग है जिसके अंदर बसे गांव को सील कर दिया गया है।लोगों ने एक वीडियो बनाया जिसमें बताया कि रात को करीब 11:00 बजे कुल्लू और लाहौल के बीच अकाश में कुछ लड़ाकू विमानों को उड़ता हुआ देखा गया था।लोगों का कहना है कि पुलिस इस बात को बताना नहीं चाह रही है पर राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी ने लोगों को कोई मूवमेंट न करने को कहा है।
उन इलाकों में सेना के जवानों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।
सूत्रों की मानें तो दोनों ही जिलों में लगती इस लंबी सीमा पर तो आईटीबीपी और सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। लेकिन इसके बाद सिविल इलाकों में आर्मी इंटेलिजेंस, आईबी और स्थानीय इंटेलिजेंस यूनिटों को अलर्ट कर दिया गया है। उधर, चीन के साथ हिंसक झड़प में बीस सैनिकों की शहादत के बाद लोगों में भी खासी नाराजगी देखने को मिली है। एक ओर जहां लोगों ने सोशल मीडिया पर हमले को लेकर चीन को मुंहतोड़ जवाब देने की मांग की है, वहीं दूसरी ओर एक बार फिर से चीनी उत्पादों के बहिष्कार को लेकर भी सोशल मीडिया पर अपील का दौर शुरू हो गया है। सीमा से सटे गांवों में लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है।
चीनी नेताओं ने कहा था कि तिब्बत एक हथेली है और लद्दाख, सिक्किम, नेपाल, भूटान, और अरुणाचल पांच उंगलियां हैं। इसलिए एक बार उन्होंने हथेली पर कब्जा कर लिया और अब वे पांचों उंगलियों की ओर आ रहे हैं। 2017 में डोकलाम में गतिरोध हुआ और अब लद्दाख में हो रहा है।

Advertisement