विदेशों में भारतीयों द्वारा चीन पर गर्माहट, शिकागो में हुआ चीनी दूतावास पर जमकर प्रदर्शन:

भारत और चीन के बीच हुए हिंसक झड़प में जहां भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए पूरी दुनिया के साथ-साथ विदेशों में बसे भारतीयों ने इसकी फूल आलोचना की है।लंदन के बाद इसकी आंच अमेरिका तक पहुंच गई है। भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों ने यहां जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इन लोगों ने शिकागो में चीनी वाणिज्य दूतावास के बाहर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर पूर्वी लद्दाख में बीजिंग की आक्रमकता के खिलाफ विरोध जताया।
दोनों पक्ष 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसकों झड़पों के बाद पनपे तनाव को कम करने के लिए कूटनीतिक एवं सैन्य स्तर पर वार्ता कर रहे हैं। शिकागो से एक प्रमुख भारतीय-अमेरिकी डॉ. भरत बराई ने कहा कि हमारा विरोध लेह में भारतीय सीमा में चीनी घुसपैठ के खिलाफ था। हम चीन को बताना चहाते हैं कि भारतीय-अमेरिकी शांत नहीं रहेंगे। आज पूरा विश्व भारत के साथ है। उन्होंने कहा कि चीनी आक्रमकता को लेकर भारतीय-अमेरिकियों के बीच भारी आक्रोश है।

Advertisement