चाइनीज ही नहीं किसी भी ऐप्प को न दे ऐसी एक्सेस परमिशन नहीं तो आपके कीमती डाटा में लग सकती है सेंध

         अगर बात आपके डाटा की हो तो बहुत सी कम्पनियाँ अपने यूजर की गतिविधियों पर नजर रखती है और आपके निजी जानकारी इकठ्ठा करती है कुछ एप्लीकेशन तो अपनी सेवा गुणवत्ता और बेहतर बनाने के लिए ऐसा करते है वहीँ कुछ कंपनियां आपकी निजी जानकारियों का गलत इस्तेमाल करती हैं फिलहाल इस काम में चीन सबसे आगे है बात करें एक चीनी एप्लीकेशन UC ब्राउज़र की तो अगर उसके एक्सेस लिस्ट को खोल के देखा जाए तो यहाँ पर आप देखेंगे की इसके पास कैमरा माइक्रोफोन लोकेशन और ब्लूटूथ एक्सेस है. दिमाग पर थोड़ा जोर डालेंगे तो ये बात आपको परेशान करेगी की एक ब्राउज़र को अच्छे से काम करने के लिए नेटवर्क एक्सेस और डाउनलोड करके सेव करने के लिए स्टोरेज एक्सेस और एक दो अन्य किसी भी हार्डवेयर का एक्सेस चाहिए लेकिन एक ब्राउज़र, लोकेशन एक्सेस करके क्या करेगा फिर कैमरा माइक्रोफोन और ब्लूटूथ एक्सेस. हद तो तब पार होती है जब इसकी कैपेबिलिटी लिस्ट में डिसेबल योर स्क्रीन लॉक लिखा मिलता है ऐसे बहुत से चाइनीज एप्लीकेशन है जिन्हे इंस्टाल करने के बाद एक बार जरूर परमिशन लिस्ट चेक कर लेना चाहिये.

Advertisement