चीन सीमा पर टूट गया था एक महत्वपूर्ण पुल, BRO ने 6 दिन में ही नया बना कर खड़ा कर दिया

उत्तराखंड के मुनस्यारी में चीन सीमा के निकट एक महत्वपूर्ण पुल कुछ दिनों पहले टूट गया था. ये पुल सामरिक रूप से बहुत महत्वपर्ण था. BRO द्वारा चीन सीमा पर बनाये जा रहे सड़क के लिए इसी पुलों से होकर भारी उपकरण और साजो सामान पहुंचाए जा रहे थे. जब सड़क कटिंग के लिए बड़े ट्रक पर पोकलैंड मशीन ले जाई जा रही थी तो उसके भारी वजन से ये पुल टूट गया था. हादसे में दो लोग गंभीर रूप से घायल भी हुए थे जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इस पुल के टूट जाने से मुनस्यारी-मिलम मार्ग पर चल रहा सड़क निर्माण का काम ठप्प हो गया था. ये मार्ग चीन सीमा पर सेना की पहुँच के लिए बहुत महत्वपूर्ण मार्ग है.

अब सीमा सड़क संगठन ने मात्र 6 दिनों में ही इस पुल को दोबारा बना कर तैयार कर दिया है. इस पुल को बनाने के लिए BRO को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बावजूद इस पुल को दिन रात कम करके मात्र 6 दिनों में ही तैयार कर लिया गया. 120 फीट लम्बे बैली ब्रिज को बनाने के लिए 70 मजदूरों ने दिन रत काम किया और इस पुल को तैयार कर दिया. ये पुल सीमावर्ती गाँव मिलम को बाकी उत्तराखंड से जोड़ता है. इस पुल के बन जाने से अब सेना और ITBP के जवानों का चीन सीमा तक पहुंचना आसान हो गया.

सीमा सड़क संगठन इन दिनों चीन से लगती सीमा पर सड़क निर्माण का काम बहुत तेजी से कर रहा है. उत्तराखंड के साथ चीन और नेपाल दोनों की सीमा लगती है. इसलिए BRO बहुतही तेजी से इन इलाकों में सड़क का निर्माण कर रहा है. मिलम से चीन सीमा तक इन दिनों 65 किमी लंबी रोड बनाने का काम तेजी से चल रहा है. इसके लिए पहाड़ों को काटने और मलबा हटाने के काम में आने वाली भारी भरकम मशीनों और कन्स्ट्रक्शन के सामान को मिलम पहुंचाया जा रहा है.



Advertisement