UP विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं रद्द, बिना परीक्षा दिए प्रोन्नत होंगे 48 लाख विद्यार्थी

 

                         उच्च शिक्षा विभाग ने कोरोना के संक्रमण काल के दौरान परीक्षाओं के आयोजन के लिए मेरठ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर NK तनेजा के अध्यक्षता में चार सदस्यीय मीटिंग गठित की थी. समिति ने मुख्यमंत्री को दिए रिपोर्ट में कोरोना के संक्रमण को मद्देनजर रखते हुए विश्वविद्यालयों की परीक्षा नहीं करने व विद्यार्थियों को बिना परीक्षा प्रोन्नत करने का सुझाव दिया था.  समिति के अनुसार कोरोना का संक्रमण देश भर में भयावह तरीके से फ़ैल रहा है ऐसे संकट काल में परीक्षा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन संभव नहीं हो सकेगा. परिणाम स्वरुप शिक्षकों और विद्यार्थियों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ जायेगा. हालाँकि समिति द्वारा सौंपी रिपोर्ट में उल्लेखित सुझावों को सरकार ने सैद्धांतिक रूप से मान लिया है.सरकार ने समिति को सब्भी विश्वविद्यालयों के छात्रों के प्रोन्नति के लिए एक समान फार्मूला विकसित करने के लिए निर्देशित किया है. सरकार के इस फैसले से प्रदेश के कुल 48 लाख विद्यार्थी प्रभावित होंगे.

Advertisement