19 साल की पथरी की मरीज लड़की को बस चालक और कंडक्टर ने कोरोना मरीज के शक में नीचे फैंका, मौत

बस में बैठी एक 19 साल की लड़की को बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने कोरोना संक्रमित समझ कर बस से फेंक दिया जिससे लड़की की मौके पर ही मौत हो गई । घटना दिल्ली की है जहां बस में सवार 19 साल की लड़की  जो कि पथरी के बीमारी के चलते कमजोर ही गई थी, अपने परिवार वालों के साथ बैठी थी । उसका शरीर इतना कमजोर था कि उससे चला भी नहीं जा रहा था। लड़की को देख कर बस के कंडेक्टर और ड्राइवर को शक हुए की वी कोरोना संक्रमित है लेकिन उसके परिजनों ने बताया कि उसका कोरोना टेस्ट हो चुका है जिसमें वो नेगेटिव पाई गई है और उसे पथरी की बीमारी है जिसके चलते वो कमजोर हो गई है । परिजनों के बताने के बाद भी ड्राइवर और कंडक्टर नहीं माने और अंततः लड़की को बस से नीचे फेंक दिया परिवार वालों ने उन्हें रोकने की कोशिश की लेकिन तब तक वे उसे फेंक चुके थे । बस से नीचे गिरने से लड़की की मौके पर हो मौत हो गई । उपरोक्त घटना को स्वतः संज्ञान लेते हुए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने पुलिस की नोटिस भेजते हुए कहा कि ये अमानवीय घटना है इसके आरोपियों कि तत्काल गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए। हालांकि पुलिस कंडक्टर और     ड्राइवर के द्वारा लड़की को बस से बीच फेंकने की घटना से इंकार कर रही है पुलिस के मुताबिक दोनों ने लड़की को सामान्य यात्री की तरह नीचे उतार दिया था फिलहाल घटना की जांच जारी है ।

Advertisement