गलत धन्धो को करके विकास दुबे ने बनाई थी 200 करोड़ से ज्यादा कि प्रॉपर्टी, पुलिस के छानबीन से निकली सारी सच्चाई:

उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए पुलिस और बदमाशों की बीच मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए तथा सात पुलिसकर्मियों को घायल बताया जा रहा था।पुलिस की छानबीन से पता चला है कि विकास दुबे ने सिर्फ गलत कमो को अंजाम देकर 200 करोड़ से ज्यादा कि प्रॉपर्टी खड़ी कि थी।
उसने ना सिर्फ मर्डर बल्कि इसके साथ साथ हाइवे पर ट्रकें लूटकर, बसों में रंगदारी वसूलकर, फैक्ट्रियों से वसूली कर और बिजनैसमैन से प्रोटेक्शन मनी लेकरयूपी का सबसे बड़ा हिस्ट्रीशीटर बन गया। जी हां, अपराध की दुनिया में विकास दुबे जितनी तेजी से आगे बढ़ा, उतनी ही तेजी से उसका बैंक बैलेंस भी बढ़ता गया और आज भगोडे़ विकास और उसके परिवार वालों के नाम करीब ढाई सौ बीघा जमीन है।
इसके साथ उसने माल लदे ट्रकों में लूट करवाने जैसे काम विकास के लिए बाएं हाथ का खेल था। नेताओं के संरक्षण में वो ट्रकों से लूटे गए माल मसलन आलू और तेल के टिनों को बिकरू गांव में लोगों के बीच बंटवा देता था। यही वजह थी कि आज तक बिकरू गांव का कोई भी व्यक्ति विकास का विरोधी नहीं हुआ। वो विकास के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार रहते थे।
विकास दुबे का आर्थिक तंत्र भी काफी मजबूत रहा है। वह उद्योगपतियों से प्रोटेक्शन मनी के नाम पर लाखों रुपए की वसूली करता रहा और अवैध रुप से करोड़ों की कमाई करता रहा। लेकिन अब विकास दुबे और उसके परिवार के पीछे पुलिस हाथ धो कर पीछे पड़ी है। जल्द ही विकास तो गिरफ्तार होगा ही साथ ही उसकी अवैध संपत्तिया को भी जब्त करने की तैयारी हो रही है, जिससे विकास के खौफ में जी रहे उद्योगपतियों और उसके द्वारा सताए गए लोगों को जरुर राहत मिलेगी।

Advertisement