उत्तर प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला, यूपी बोर्ड के पाठ्यक्रम में होगी 30% की कटौती

लखनऊ. कोविड-19 (Covid-19) महामारी को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने यूपी बोर्ड (UP Board Syllabus) के सिलेबस में कटौती का फैसला किया है। राज्य के उप मुख्यमंत्री और माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा (Dinesh Sharma) ने कहा हैं कि कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए सत्र को नियमित करने के लिए सरकार ने माध्यमिक शिक्षा परिषद के पाठ्यक्रम को 30 प्रतिशत तक कम करने का फैसला किया है। वहीं, बचे हुए 70 प्रतिशत पाठ्यक्रम को तीन भागों में बांट कर पढ़ाई कराई जाएगी। पहले भाग में पाठ्यक्रम का वह भाग होगा जिसको कक्षावार, विषयवार और अध्यायवार वीडियो बनाकर आनलाइन पढ़ाया जाएगा और स्वयंप्रभा चैनल (Swamyam Prabha) व यूपी दूरदर्शन (Doordarshan) पर प्रसारित किया जाएगा। दूसरे भाग में पाठ्यक्रम का वह भाग होगा, जिसे छात्र खुद पढ़ सकेंगे और तीसरे में पाठ्यक्रम का वह भाग होगा जो प्रोजेक्ट वर्क के माध्यम से छात्रों द्वारा किया जा सकता है।

साल भर के बनेंगे मंथी कैलेंडर

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि अमूमन माध्यमिक शिक्षा विभाग में 10 माह पहले शैक्षिक पंचांग जारी कर दिया जाता है। मगर इस बार कोविड-19 के कारण निर्णय लेने में असंजस की स्थिति है। उन्होंने कहा कि विषय विशेषज्ञों द्वारा कक्षावार/ विषयवार/ अध्यायवार बनाए गए शैक्षिक पंचांग के अनुसार शैक्षिक एवं अन्य शैक्षणिक गतिविधियों का माहवार वार्षिक एकेडमिक कैलेंडर बनाया जाएगा। शैक्षिक पंचांग के अनुसार विद्यालयों में पाठ्यक्रम को पढ़ाने, मूल्यांकन कराने, निगरानी कराने के लिये विद्यालय, जनपद, मंडल एवं राज्य स्तर पर मानक संचालन प्रक्रिया (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) को निर्मित किया जाएगा।

ये भी पढ़ें: UP: फाइनल ईयर परीक्षा को छोड़कर सभी परीक्षाएं रद्द. बिना एग्जाम प्रमोट होंगे सभी छात्र



Advertisement