390 प्रवासी कामगार परिवार जल्द पाएंगे आयुष्मान योजना का लाभ, मिलेगीं सभी सुविधाएं

बाराबंकी. कोरोना महामारी के इस दौर में जिले में आने वाले प्रवासियों व उनके परिवार के सदस्यों को अब आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) के अंतर्गत गोल्डनकार्ड बनाया जा रहा है। इस विषय पर जिले स्तर पर स्वास्थ्य विभाग ने कार्य शुरू कर दिया है। आयुष्मान भारत योजना के नोडल अधिकारी डॉ डीके श्रीवास्वव ने बताया कि शासन से जिले के लगभग 390 से भी ज्यादा लाभार्थियों की सूची आई है, जिनके गोल्डनकार्ड बनाने के निर्देश दिए गए हैं। इन परिवारों के प्रत्येक सदस्यों को योजनांतर्गत उपचार की सभी सुविधाएं पंजीकृत अस्पतालों में दी जाएगी।

उन्होंने बताया स्थानीय जनपद के सभी 15 ब्लॉकों में कुल 390 परिवारों के लोगों को इस योजना में सम्मिलित किया गया है। इसमें बंकी में 18, बेनीकोडर में 35, बेलहरा में 5, दरियाबाद में 57, देवा में 09, फतेहपुर में 17, हैदरगढ़ में 1, हरख में 24, हैदरीगढ़ में 03, मसौली में 20, निन्दूरा में 05, पूरेडलई में 31, रामगढ़ में 13, सिद्धौर मे 26, सिरौली गौसपुर में 21, सुबेहा में 4, सूरतगंज में 27, त्रिवेदीगंज में 13, टिकैतनगर में 5, जैदपुर में 01 समेंत कुल 390 प्रवासी कामगार परिवार के गोल्डन कार्ड बनेंगे। इन प्रवासी कामगारों के मोबाइल नंबर पर आयुष्मान भारत योजना के पंजीकृत अस्पतालों में नियुक्त आरोग्य मित्र के माध्यम से कॉल कराई जा रही है, जिससे लाभार्थी सपरिवार नजदीक के अस्पताल या जिला महिला व अथवा पुरुष अस्पताल आकर कार्ड बनवा लें।

इन अस्पतालों में मिलेगी सुविधा

मुख्य चिकित्साधिकारी डा रमेश चन्द्र ने आयुष्मान योजना अंतर्गत गोल्डन कार्ड के लिए चिन्हित परिवार से अपील कि वे अपना एवं अपने परिवार के सदस्यों का गोल्डेन कार्ड अनिवार्य रूप से बनवा लें। गोल्डेन कार्ड बनाने की सुविधा जनपद के जिला चिकित्सालय, जिला महिला चिकित्सालय, निजी चिकित्सालय में- समुदायिक स्वस्थ्य केन्द्रो में देवा, रामसनेहीघाट सीएससी फतेहपुर, त्रिवेदीगंज, सिद्धौर, मथुरानगर, रामनगर, जाटा बरौली, सूरतगंज, बड़ागांव, टिकैतनगर, सतरिख, हैदरगढ़, सिरौलीगौसपुर, सहादतगंज, जहांगीराबाद, कोठी, जैदपुर शामिल है। इन केंद्रों पर गोल्डनकार्ड निशुल्क बनाए जाएंगे। सीएमओ ने सभी ब्लॉक पर इन प्रवासी श्रमिकों के गोल्डन कार्ड जुलाई माह के अंत तक बनाने के निर्देश दिए है।



Advertisement