कोरोना मरीजों के लिए फरिश्ता बने सीआरपीएफ जवान, 4000 जवानों ने डोनेट किया प्लाज़्मा

जहां सीआरपीएफ के जवान कोरोना का केंद्र बन चुके थे वहीं जवान अब कोराना मरीजों के लिए किसी फरिश्ते से कम नहीं है। कोरोना से ठीक ही चुके सीआरपीएफ के  4000  जवानों ने  कोराना मरीजों के लिए प्लाज़्मा डोनेट किया है। सीआरपीएफ की 31वी बटालियन कोराना मरीजों की जान बचा रही है। 31वे बटालियन समेत सीआरपीएफ के 4000 जवान कोराना के खिलाफ जंग लड़ रहे मरीजों का साथ दे रहे है। जवानों  ने बताया कि जब उन्हें पता चला कि वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं तो वे बहुत डर गए थे लेकिन अब ठीक होने के बाद कोरोना मरीजों की जिंदगी बचाने के लिए प्लाज़्मा डोनेट करके खुशी हो रही है। हेड कांस्टेबल मंजीत के अनुसार कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद उन्होंने क्रमशः 15 - 15 दिन आइसोलेशन वार्ड और क्वारांटाइन केंद्र में गुजारे और ठीक होने के बाद जब उन्हें पता चला कि वे कोरोना संक्रमित मरीजों की जान बचा सकते है तो उन्होंने भी प्लाज़्मा डोनेट किया।

Advertisement