अपहृत बिल्डर विक्रम त्यागी का नहीं लगा सुराग, पता बताने वाले को मिलेगा 50 हजार का इनाम

गाजियाबाद. थाना सिहानी गेट क्षेत्र में रहने वाले बिल्डर विक्रम त्यागी 26 जून को संदिग्ध परिस्थितियों में अचानक लापता हो गए थे, जिनकी काफी तलाश की गई तो दो दिन बाद उनकी कार लावारिस हालत में बागपत जिले में मिली। कार में खून के निशान भी पाए गए थे, जिसके बाद पुलिस ने कार को कब्जे में लेकर बिल्डर की तलाश शुरू की। इसके लिए कई टीम गठित की गई और तभी से लगातार पुलिस बिल्डर को तलाशने में जुटी हुई है, लेकिन अभी भी पुलिस के हाथ खाली हैं। पुलिस ने अब बिल्डर का पता बताने वाले को 50 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें- यूपी: सरकारी एम्बुलेंस में स्ट्रेचर पर महिला से रासलीला, वीडियाे हुआ वायरल

बता दें कि राजनगर एक्सटेंशन टीडीपी ग्रीन सवाना सोसायटी में रहने वाले बिल्डर विक्रम त्यागी 26 जून को पटेल नगर स्थित अपने ऑफिस से घर के लिए चले थे। इसकी जानकारी उन्होंने अपने परिजनों को फोन पर दी थी, लेकिन अचानक ही उनका फोन बंद हो गया और वह देर रात तक भी घर नहीं पहुंचे। इसके बाद परिजनों ने उन्हें काफी तलाश किया। अगले दिन सुबह परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की तहरीर थाना सिहानी गेट में दी। उसके बाद पुलिस और परिजन विक्रम त्यागी की तलाश में लगे रहे और अगले दिन ही जानकारी मिली की उनकी कार बागपत इलाके में लावारिस हालत में खड़ी हुई है।

सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थिति का जायजा लिया तो कार के अंदर खून के निशान भी पाए गए, लेकिन विक्रम त्यागी कोई पता नहीं चल पाया। पुलिस ने खुद अनहोनी की आशंका व्यक्त करते हुए पुलिस की कई टीम गठित की और तभी से तलाश में जुटी हुई है। लगातार कई जगह छापेमारी भी की गई हैं, लेकिन अभी भी पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली हैं। इतना समय बीत जाने के बाद भी विक्रम त्यागी का पता ना चल पाने के कारण उनके परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है। उन्हें लगातार अनहोनी की आशंका सता रही है। उधर सामाजिक संगठनों भी पुलिस पर बिल्डर को तलाशने के लिए लगातार दबाव बना रहे हैं।

एसपी सिटी मनीष कुमार मिश्रा ने बताया कि राजनगर एक्सटेंशन में रहने वाले बिल्डर विक्रम त्यागी 26 जून को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हुए थे। उनकी कार बागपत इलाके में मिली है और उन्हें खोजने के लिए पुलिस की कई टीमें लगी हुई हैं। जगह-जगह छापेमारी की जा रही है, लेकिन अभी उनका पता नहीं चल पाया है। उन्होंने बताया कि अब पुलिस ने उनका पता बताने वाले को 50 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि इनका पता बताने वाले का नाम भी गुप्त रखा जाएगा।

यह भी पढ़ें- Whatsapp ग्रुप में व्यापारी ने डाल दिया सीएम योगी का आपत्तिजनक वीडियो, फिर हुआ बड़ा बवाल



Advertisement