बिहार राज्य से ही चीन को टक्कर देने की ,की जा रही है पूर्ण तैयारी, आइए जानें पूरी खबर:

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है। आपको बता दें कि दोनों देशों की स्थिति अब युद्ध के कगार पर पहुंच चुकी है। 3 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीमा पर तैनात सभी सैनिकों से मुलाकात की तथा हिंसक झड़प में घायल सैनिकों से भी बात की उन्होंने सैनिकों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि भारत ना ही कभी किसी के सामने झुका है और ना ही इन वीर जवानों के रहते हुए किसी के सामने झुकना पड़ेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अचानक सीमा यात्रा से चीन पूरी तरह से बौखला चुका है तथा वह जान चुका है कि भारत कोई नई साजिश रचने की तैयारी में है।
सूत्रों के मुताबिक पता चल रहा है कि यदि युद्ध की स्थिति बनी तो चीन को बिहार के राज्य से हैं शक्कर दिया जा सकता है।

रिटायर्ड विंग कमांडर प्रफुल्ल बख्शी का कहना है कि बिहार में बिहटा, पूर्णिया और दरभंगा के बेस स्टेशन से चीन को सबक सिखाया जा सकता हैं।


इस एयर बेस से न सिर्फ चीन को फाइटर प्लेन से जवाब दिया जा सकता है बल्कि चीन से होने वाली हर जंगी उड़ान पर भी अत्याधुनिक राडारों से पैनी नजर तक रखी जा सकती है।

इसलिए इन एयर बेस को और आधुनिक बनाने की जरुरत हैं।

नवभारत टाइम्स में छापी एक खबर में प्रफुल्ल बख्शी ने कहा की बिहार में बिहटा, पूर्णिया का चूनापुर और दरभंगा केयर एंड मेंटेनेंस एयरबेस चीन से जंग की हालत में फाइटर एयरक्राफ्ट के लिए बैकअप स्टेशन्स की भूमिका निभाएंगे। यहां से चीन पर नजर रखी जा सकती हैं और चीन को मुंहतोड़ जवाब दिया जा सकता हैं।

Advertisement