गाजियाबाद में पत्रकार मर्डरः परिवार का शव लेने से इनकार, बहन बोली- 'इंसाफ नहीं मिला तो कर लूंगी आत्मदाह'

गाजियाबाद। पत्रकार विक्रम जोशी की बुधवार तड़के इलाज के दौरान मौत हो गई। उनके भाई अनिकेत ने बताया कि डॉक्टर ने सुबह चार बजे उन्हें इसकी जानकारी दी। मौत की खबर सुनकर परिवार में कोहराम मच गया। परिवार ने शव लेने से इनकार कर दिया। परिवारवालों ने मांग रखी की जिलाधिकारी अस्पताल में आए और कार्रवाई का आश्वासन दें। जिसकी सूचना पर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडे जशोदा अस्पताल में पहुंचे और परिवार को समझाने का प्रयास किया।

उधर, मृतक विक्रम जोशी की बहन ने कहा कि अगर उन्हें इंसाफ नहीं मिला तो वह आत्मदाह कर लेंगी। मामले को लेकर जनपद के पत्रकारों से लेकर देशभर के नेताओं ने योगी सरकार को घेरा है। वहीं इस मामले में एसएसपी ने कार्रवाई करते हुए प्रताप विहार चौकी इंचार्ज और एक दरोगा को सस्पेंड कर दिया है।

गौरतलब है कि सोमवार को पत्रकार विक्रम जोशी अपनी दो बेटियों संग जा रहे थे। तभी बदमाशों ने उनकी बाइक को रोककर जानलेवा हमला कर दिया था। इस दौरान मुख्य आरोपी रवि ने जोशी के सिर में गोली मार दी थी। जिसके बाद उन्हें घायल अवस्था में जशोदा अस्पताल में भऱ्ती कराया गया था। जहां बुधवार को उनकी मौत हो गई। पुलिस ने मामले में मुख्य आरोपी रवि समेत मामले में 9 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है।



Advertisement