गिरफ्तारी के बाद विकास दुबे ने खोला पुलिसकर्मियों की हत्या का असली राज, आखिर क्यों करनी पड़ी थी पुलिस पर गोलीबारी, आइए जाने विस्तार से:

उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद घटना का मुख्य आरोपी विकास दुबे पूरे 7 दिन बाद पुलिस की हिरासत में पाया गया। उत्तर प्रदेश के कानपुर एनकाउंटर का मुख्य आरोपी विकास दुबे आज सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार हुआ। जिसके बाद उसे मंदिर सुरक्षाकर्मियों ने स्थानीय पुलिस के सुपुर्द कर दिया।
गिरफ्तारी के बाद पुलिस की पूछताछ पर विकास दुबे में अपना सच्चा राज खोल दिया है जिसको सुनने के बाद सब की धड़कनें तेज हो जाएंगी।उसने अपने बयान में यह कबूल किया कि उसने हैं सभी पुलिसकर्मियों पर गोलीबारी का मुख्य षड्यंत्र रचा था। उसने अपने बयान में बताया कि उसको इसलिए गोली चलानी पड़ी क्योंकि उसको पता था कि सभी पुलिसकर्मी दबिश के दौरान एनकाउंटर किये जाने का डर था, इसलिए उसने पुलिस पर फायरिंग कर दी।
वहीं उज्जैन पुलिस सेंटर में विकास दुबे से पूछताछ हुई। इस दौरान विकास दुबे ने अपना जुर्म कबूल किया और उस खूनी रात को लेकर कई खुलासे किया। विकास ने बताया कि उसे पता चल गया था कि पुलिस रेड करने आने वाली है लेकिन खबर थी की पुलिस सुबह आएगी पर वो सुबह की बजाय रात में आ गए। भागने का मौका नहीं मिल सका और इस बात का डर था कि पुलिस गिरफ्तारी के दौरान एनकाउंटर कर देगी इसलिए फायरिंग कर दी।
उसने ये भी कबूला की पुलिसकर्मियों के शवों को एक के ऊपर एक रखकर उन्हें शवों की दीवार बनाई। ऐसा करने की वजह ये थी कि वे पुलिसकर्मियों के शवों को जलाकर सबूत मिटाना चाहते थे। इसके लिए उसके गुर्गे तेल लाये थे। हालाँकि मौका नहीं मिल सका और भागना पड़ा। उसने कई पुलिसकर्मियो से सम्पर्क होने की बात भी कबुली।

Advertisement