नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के चार सदस्यों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

आजमगढ़. बेरोजगारों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के चार सदस्यों को निजामाबाद पुलिस ने सोमवार की सुबह जिला मुख्यालय स्थित रोडवेज के पास से गिरफ्तार किया। जालसाजों के पास से पुलिस ने विभिन्न विभागों में नौकरी का फर्जी तैयार किया गया ज्वाइनिंग लेटर आदि दस्तावेज बरामद किया।

निजामाबाद क्षेत्र के खादा गांव निवासी प्रिस शर्मा को आर्डिनेंस फैक्ट्री कानपुर में नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाजों ने उनसे 63 हजार रुपये ले लिए थे। पीड़ित ने इस संबंध में निजामाबाद थाने में तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। साइबर सेल के एक्सपर्ट मनीष कुमार ने जब जांच पड़ताल की तो एक संगठित गैंग प्रकाश में आया। निजामाबाद सब इंस्पेक्टर रहीमुद्दीन ने साइबर सेल की मदद से सोमवार की सुबह शहर रोडवेज के पास से संगठित गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से पुलिस ने रेलवे, एफसीआइ, आर्डिनेंस फैक्ट्री, लखनऊ मेट्रो समेत अन्य कई विभागों के फर्जी ज्वाइनिग लेटर बरामद किए।

पुलिस अधीक्षक प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि पकड़े गए जालसाजों में विवेक सिंह ग्राम बीहड़ थाना टिकैत नगर जिला बाराबंकी, राजेश गुप्त उर्फ राजू निवासी विकास खंड गोमती नगर लखनऊ, हरिलाल गौतम ग्राम बरहतीर जगदीशपुर थाना जहानागंज व मुन्नीराम ग्राम नदवां थाना तरवां के निवासी हैं। पकड़े गए जालसाजों का एक संगठित गिरोह है। गिरोह का तार आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी, बलिया, मऊ से लेकर पटना तक फैला हुआ है। गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी का प्रयास जारी है।



Advertisement