रायबरेली में सोशल मीडिया में एक वीडियो हो रहा है वायरल, खुलेआम राइफल और बंदूकों का धमकाने में किया जा रहा उपयोग

रायबरेली . जिले में लगातार अपराधों से संबंधित वीडियो वायरल हो रहे हैं जनता इसको बड़े मजे लेकर देख रही है और प्रशासन के लिए चुनौतीपूर्ण यह वीडियो वायरल बने हुए हैं। ऐसा ही एक मामला ऊंचाहार थाना क्षेत्र में इस समय सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो चर्चा का केंद्र बना हुआ है।वीडियो में परसीपुर गांव के प्रधान व उनके चाचा अपने कई असलहा धारी चाचा के साथ विपक्षी के साथ दबंगई करते हुए साफ दिख रहे है। मौके पर जमा ग्रमीणो के विरोध के कारण वो वंहा से गाली गलौज व धमकाते हुए चले गए। डरे हुए विपक्षी ने मामले की सूचना थाने पर दी जिसपर दोनों पक्षो को थाने बुलाया गया है।

सोशल मीडिया में एक वीडियो हो रहा है वायरल

मामला कोतवाली क्षेत्र के सरकपुर डिहवा मजरे परसीपुर का है। गांव के ही रहने वाले चंद्रिका प्रसाद ने कोतवाली में जाकर एक तहरीर दी है जिसमे आरोप लगाया कि प्रधान की समरसेबल की मोटर 15 दिन पूर्व चोरी हो गई थी। बुधवार की सुबह 8 बजे जब हम सभी लोग कोतवाली जा रहे थे, तभी प्रार्थी को गांव के ग्राम सहित छह लोगों ने रास्ते में रोक लिया और हाथ में राइफल, बन्दूक तथा डंडे हॉकी लहराते हुए गाली गलौज करने के साथ मारपीट करने की कोशिश की ।

आत्मरक्षा के लिए मजबूरन राइफल निकालना पड़ा

इस मामले की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। प्रधान पक्ष ने कोतवाली पहुंचकर तहरीर देकर बताया कि चंद्रिका प्रसाद तथा उनके परिवार जनों ने प्रधान के घर पर लाठी-डंडे लेकर अचानक हमला बोल दिया था जिसको लेकर आत्मरक्षा के लिए मजबूरन राइफल निकालना पड़ा था। इस घटना का सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। जिसमे दोनों पक्ष एक दूसरे पर आरोप और झगड़ा करते हुए दिखाई पड़ रहे हैं। इस पूरे मामले पर ऊंचाहार कोतवाल पंकज तिवारी ने बताया कि दोनों पक्षों से तहरीर मिली है जांच की जा रही है दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।



Advertisement