गजब: गड्डा मुक्त सड़कों का वादा याद दिलाने के लिए सड़क में हुए गड्डों में कर दी धान की रोपाई

ग्रेटर नोएडा। यूपी में जब योगी सरकार बनी तो सबसे पहले सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि उत्तर प्रदेश की सड़कें गड्डा मुक्त होनी चाहिए। तेजी से इसपर काम भी चला। लेकिन इस अभियान से प्रदेश को सबसे राजस्व देने वाला जनपद गौतम बुद्ध नगर इससे महरूम रह गया। जगह जगह हुए सड़क पर गड्डों और उसमें बारिश के बाद भरा पानी को लेकर करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने ग्रामीणों के साथ सड़कों पर जमा कीचड़ में धान की रोपाई कर विरोध जताया।

यह भी पढ़ें: सपेरों की इस बस्ती को रहता था Naag Panchami का इंतजार, अब हो गए बेरोजगार

करप्शन फ्री इंडिया के कार्यकर्ता ने ग्रेटर नोएडा में बारिश के बाद सड़को पर जगह-जगह हुई वाटर लॉगिंग से परेशान होकर अनोखे तरीके से विरोध प्रदर्शन किया। प्राधिकरण, यमुना प्राधिकरण,पीडब्ल्यूडी एवं यूपीएसआइडी प्राधिकरण क्षेत्र की अधिकतर सड़कें जर्जर हैं। सड़कों में बने गड्ढों में तीन दिन पहले हुई बारिश का पानी तीन-तीन फुट तक भर चुका है। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने ग्रामीणों के साथ सड़कों पर जमा कीचड़ में धान की रोपाई कर विरोध जताया। ग्रामीणों ने सड़कों की जल्द मरम्मत कराने की मांग की। संगठन के कार्यकर्ताओं ने दनकौर के स्पो‌र्ट्स सिटी बाइपास पर धान के पौधे रोपित कर मांग की कि प्राधिकरण तत्काल इन सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त करे।

यह भी पढ़ें: बिना वर्दी दबिश देने गई पुलिस टीम से मारपीट, गाड़ी में तोड़फोड़

ग्रामीणों का कहना है कि खेरली नहर से कासना मार्ग, सलेमपुर से घंघौला चौकी मार्ग, बाघपुर-दादूपुर मार्ग एवं कासना साइड पांच औद्योगिक मार्ग जर्जर हैं। इन मार्गो पर गड्ढे होने के चलते लोग का पैदल चलना मुश्किल हो गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि बारिश होने के तीन दिन बाद भी सड़कों पर जलभराव के कारण सड़कें खेत नजर आ रहे हैं, इसलिए ग्रामीणों ने सड़क पर धान रोप कर विरोध दर्ज कराया।



Advertisement