पत्रकार विक्रम जाेशी की अस्पताल में माैत, परिवार में मचा काेहराम, राहुल गांधी ने यूपी सरकार काे घेरा

गाजियाबाद ( ghazibad crime news) पत्रकार विक्रम जोशी ( ghazibad crime news) की उपचार के दाैरान बुधवार सुबह माैत हो गई। डॉक्टरों ने जैसे ही माैत की पुष्टि की ताे परिवार में काेहराम मच गया। बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी भी अस्पताल पहुंच गए और पुलिस के खिलाफ अपने गुस्से का इजहार किया। राहुल गांधी ने भी घटना पर दुख जताते हुए यूपी सरकार काे घेरा है। राहुल गांधी के ट्वीट के बाद अब लाेग साेशल मीडिया पर अपने गुस्से का इजहार कर रहे हैं।

बतादें कि साेमवार देर रात विजय नगर इलाके की प्रताप विहार कॉलोनी के सेक्टर 12 में रहने वाले पत्रकार ( journalist ) विक्रम जोशी को बाइक सवार हमलावरों ने सरेआम ( Gun shot) गाेली मार दी थी। अचानक आए करीब आधा दर्जन हमलावराें ने पहले उनके साथ मारपीट की और फिर उनके सिर में गाेली मार दी। गाेली लगते ही विक्रम जमीन पर गिर गए और हमलावर फरार हाे गए। यह सब उनकी दाे बेटियाें के सामने हुआ और वह अपने पिता काे बचाने के लिए चीखती-चिल्लाती रही लेकिन बेरहम हमलावरों काे काेई तरस नहीं आया। निर्दयी ढंग से इस वारदात ( murder) काे अंजाम देकर हमलावर फरार हाे गए।

यह पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो गई। आनन-फानन में घायल विक्रम जोशी को अस्पताल भर्ती कराया गया। उपचार के दाैरान बुधवार तड़के विक्रम की माैत हाे गई। माैत की खबर लगते हैं पूरे परिवार में काेहराम मच गया। विक्रम अपने परिवार में अकेले थे। उनकी दाे बेटियां हैं घटना के बाद से परिजनाें का रुदन रुकने का नाम नहीं ले रहा। परिजनाें में हमलावरों के साथ-साथ पुलिस के प्रति भी बेहद गुस्सा है। विक्रम की बहन का आराेप है कि अगर पुलिस कार्रवाई करती ताे आज विक्रम जिंदा हाेता।

दरअसल विक्रम ने अपनी भांजी के साथ हुई छेड़छाड़ के विराेध में एक तहरीर पुलिस काे दी थी। इस तहरीर में कुछ युवकों पर उसकी भांजी के साथ छेड़छाड़ करने के आराेप थे लेकिन पुलिस ने इस शिकायत पर काेई कार्रवाई नहीं की थी। आराेपाें के अनुसार उन्ही आराेपियाें ने विक्रम काे गाेली मार दी। घटना के बाद एसएसपी ने लापरवाही पर चाैकी प्रभारी समेत दाे पुलिसकर्मियों काे सस्पेंड कर दिया गया था लेकिन परिजनाें ने इस कार्रवाई को नाकाफी बताया है।

इस दुखद घटना से सभी स्थानीय राजनीतिक नेता और मीडियाकर्मियों में पुलिस के खिलाफ बेहद गुस्सा है। सभी का यही कहना है कि, पुलिस की कार्यशैली सही होती और इस झगड़े की जानकारी के बाद कोई एक्शन लिया होता तो आज विक्रम जोशी ( vikram joshi) जिंदा होते। सभी पत्रकारों का कहना है कि इससे पहले भी पत्रकारों पर हमले हो चुके हैं उसके बाद भी पुलिस मीडिया कर्मियों की सुरक्षा के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है।

rahul_gandhi.jpg

राहुल गांधी ( Rahul Gandhi) के ट्वीट से गरमाई राजनीति

पत्रकार विक्रम जाेशी की हत्या के बाद राहुल गांधी ने एक ट्वीट ( rahul gandhi tweets) करके यूपी सरकार काे घेरा है। राहुल गंधी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि वादा था 'रामराज का और दे दिया गुंडाराज' इस ट्वीट के साथ राहुल गांधी ने यूपी सरकार काे घेरते हुए पत्रकार विक्रम जाेशी के परिवार काे सांत्वना भी दी है। ( rahul gandhi news) राहुल गांधी ने लिखा है कि, ' अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ का विराेध करने पर पत्रकार विक्रम जाेशी की हत्या कर दी गई। शाेकाकुल परिवार को माेरी सांत्वाना' राहुल गांधी के इस ट्वीट के बाद राजनीति गरमाई गई है। इस ट्वीट काे जमकर रिट्वीट किया जा रहा है और लाेग अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं।



Advertisement