वर्ल्ड क्लास सिटी बनेगी रामनगरी अयोध्या, केंद्र और राज्य सरकार मिलकर करेंगी कायाकल्प

अयोध्या. 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भव्य राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास के साथ अयोध्या का भी कायाकल्प शुरू होगा। केंद्र और राज्य सरकार दोनों ने मिलकर अयोध्या को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया है। केंद्र की नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने रामनगरी अयोध्या के विकास और सौंदर्यीकरण के लिए बड़ा एक्शन प्लान तैयार किया है।

दो भागों में बंटा सौंदर्यीकरण का काम

एनएचएआई ने अयोध्या के सौंदर्यीकरण का काम दो भागों में बांटा है। पहला सिविल और दूसरा ब्यूटीफिकेशन वर्क। अयोध्या में होने वाले सिविल वर्क के लिए 40 करोड़ रुपए जबकि ब्यूटीफिकेशन वर्क के लिए 15 करोड़ का फंड रखा गया है। अयोध्या में होने वाले सिविल कार्य की टेंडर प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। इसका 30 फीसदी काम भी पूरा हो चुका है। जबकि सौंदर्यीकरण के काम के लिए भी टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली गयी है, और इस पर भी काम चालू है।

केंद्र और राज्य सरकार मिलकर करेंगे काम

अयोध्या के कायाकल्प के लिए केंद्र की कुछ योजनाओं के साथ ही प्रदेश सरकार भी काम करेगी। पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के विकास के लिए कराए जाने वाले कामों की समीक्षा भी की थी। सीएम योगी ने रामनगरी अयोध्या के सभी विकास कार्यों को योजना बनाकर चरणबद्ध तरीके से पूरा करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने अयोध्या आने वाले दर्शनार्थियों के लिए इलेक्ट्रिक कार्ट के माध्यम से यातायात की सुविधा उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिये।

मल्टीलेवल पार्किंग की व्यवस्था

आने वाले दिनों में शहर की सड़कों का चौड़ीकरण किया जाएगा। जिससे यातायात व्यवस्था को सुगम बनाया जा सके। इसके अलावा अयोध्या में कई जगहों पर मल्टीलेवल पार्किंग की व्यवस्था भी की जाएगी। साथ ही बसों के लिए अलग से हाईटेक बस स्टैंड बनाए जाएंगे। अयोध्या को सुंदर बनाने के लिए सड़कों के किनारे खूबसूरत पेड़-पौधे और साज-सजावट के समान लगाए जाएंगे। साथ ही पूरे शहर की इलेक्ट्रिक केबल को अंडर ग्राउंड करने पर भी काम चल रहा है।



Advertisement