पोल्ट्री फार्म में हमला करने पहुंचे थे बदमाश, एक अपने ही साथियों की गोली का शिकार हुआ

मुजफ्फरनगर। जनपद में शुक्रवार देर रात एक पोल्ट्री फार्म पर हथियारबंद बदमाशों ने धावा बोल दिया। जिसमें पोल्ट्री फार्म के मालिक के बेटे ने बदमाशों के होने की सूचना अपने परिजनों को दी और जैसे ही ग्रामीणों की भीड़ घटनास्थल की ओर दौड़े तो बदमाश भागने लगे। इसी बीच हिम्मत दिखाते हुए फार्म पर मौजूद युवक गुरकीरत ने एक बदमाश को पकड़ लिया। जिसके चलते बदमाश के साथियों ने गुरकीरत पर गोली चला दी। जो एक बदमाश को ही जा लगी। गोली लगने से बदमाश मौके पर ही ढ़ेर हो गया।

यह भी पढ़ें: बकरीद से पहले बकरे काे लेकर दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल और यूपी पुलिस के दरोगा में ढिशुम-ढिशुम !

दरअसल, मामला थाना भोपा क्षेत्र के गांव नगला बुजुर्ग के जंगलों का है। जहां सरदार रणजीत सिंह पुत्र हरि सिंह का कृषि फार्म है। कृषि फार्म से कुछ ही दूरी पर किसान रणजीत सिंह का पोल्ट्री फार्म है। जिस पर रात में रंजीत सिंह का बेटा गुरकीरत व उनका एक नौकर पोल्ट्री फार्म पर सो रहे थे। तभी देर रात लगभग 12:15 बजे कई हथियारबंद बदमाशों ने पोल्ट्री फार्म पर धावा बोल दिया और पोल्ट्री फार्म का गेट खुलवाने की कोशिश करने लगे बदमाशों ने किसी तरह डरा धमका कर पोल्ट्री फार्म का गेट खुलवा लिया और वहां मौजूद गुरकीरत पर तमंचा तानते हुए लूटपाट शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें: Corona के पॉजिटिविटी रेट में बड़ी गिरावट के साथ पहले से सीधे 28वें नंबर पर पहुंचा UP का ये जिला

इसी बीच गुरकीरत ने मामले की जानकारी अपने परिजनों को दे दी। जिसके बाद ग्रामीणों की भीड़ के साथ गुरकीरत के परिजन मौके पर आ ही रहे थे कि इसी बीच बदमाश भागने लगे। वहीं गुरकीरत ने एक बदमाश को दबोच लिया। जिसके बाद अपने साथियों को छुड़ाने के लिए दूसरे बदमाश ने गुरकीरत पर फायरिंग कर दी जो दूसरे बदमाश को जा लगी। जिससे वह मौके पर ही ढेर हो गया और बदमाश के दूसरे साथी मौके से फरार हो गए।

मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। तो थाना भोपा पुलिस एसपी देहात नेपाल सिंह भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और रात्रि में ही जंगल में कांबिंग की। मगर कोई सफलता हाथ नहीं लगी। पुलिस ने मृतक बदमाश के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक बदमाश की अभी पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस मृतक बदमाश की पहचान कराने में जुटी हुई है। वहीं अन्य फार्मो के किसान भी मौके पर पहुंच गए जो जिला प्रशासन से सुरक्षा की दृष्टि से अपने शस्तर लाइसेंस बनवाने की मांग कर रहे हैं।



Advertisement