पाकिस्तान : मुस्लिम कट्टरपंथियों की घिनौनी और कायराना हरकत, हिन्दुओं के अर्धनिर्मित मंदिर में दिया अजान

https://twitter.com/i/status/1280214361609580545
https://twitter.com/i/status/1280214361609580545
पाकिस्तान में रहने वाले मुस्लिम कट्टरपंथी आतंकवाद और घटियाही के अलावा अब अल्पसंख्यक हिन्दुओ के धार्मिक स्थानों को भी तबाह करने के लिए समय निकाल कर वहां पर जबरन तोड़फोड़ तो कर ही रहे है और साथ ही अजान (https://twitter.com/i/status/1280214361609580545)भी दे रहे हैं। हाल ही में पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में  राजधानी का पहला कृष्ण मंदिर बनवाने का निर्णय लिया गया था।  प्रधानमंत्री ने अपने जीवनकाल  में पहली बार बड़े ही सूझबूझ और समझदारी का परिचय देते हुए यह निर्णय लिया था. इमरान खान सरकार द्वारा हिन्दू अल्पसंख्यकों के लिए इस्लामाबाद में बन रहे मंदिर के लिए 10  करोड़ रुपये की धनराशि भी  दी गई थी।  लेकिन कुछ धार्मिक संगठनों ने अपने बम बारूद बनाने वाले क्रियाकलापों को बंद करते हुए समय निकाला और हिन्दू अल्पसंख्यकों की भावनाओं पर धमाका करते हुए निर्माणाधीन कृष्ण मंदिर के खिलाफ फ़तवा जारी कर दिया। साथ ही वे निर्माणाधीन मंदिर के निर्माण को रोकने के लिए जिद भी करने लगे.आखिरकर  इन कट्टरपंथी संगठनो के जिद के आगे इमरान खान और पूरी पाकिस्तान सरकार को झुकना  ही पड़ा और निर्माणाधीन मंदिर एक ऐसे अर्धनिर्मित मंदिर में बदल गया जिसका निर्माण इन कट्टरपंथी समुदायों के रहते हुए असंभव सा लगता है।  जहाँ बम बारूद बनाने में महारथी कट्टर संगठनो ने समय निकाल कर अल्पसंख्यक हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं पर धमाका किया वही कुछ कट्टरपंथियों ने इनसे प्रेरणा ली और आतंकी गतिविधियों और घटियाही से समय निकाल  कर अल्पसंख्यक हिन्दुओं के अर्धनिर्मित मंदिर पर आकर तोड़फोड़ किया और जबरन अजान भी किया। उपरोक्त घटनाओं को देखने के बाद नहीं लगता है की पाकिस्तान सरकार अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा कर पाने में समर्थ है।  मुस्लिम कट्टरपंथी समुदायों के दबाव को झेल रही इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तानी सरकार ने दबी जुबान से दावा  किया है की पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के अधिकारों  की रक्षा की जाएगी। 

Advertisement