प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अचानक वाले काम से दुनिया हैरान, अचानक सर्जिकल स्ट्राइक, अचानक भारत में नोटबंदी..........

आपको बता दें कि दुनिया का ऐसा कोई भी प्रधानमंत्री नहीं होगा जो अपने फैसले करने के पहले देश में इसकी सूचना नहीं देता हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ऐसे शख्स हैं जिनको अचानक सदमा देना बहुत ही अच्छा लगता है। इनके अचानक वाले कार्य से भारत के दुश्मन देश भारत से आंख मिलाने की भी हिम्मत नहीं रखते हैं। क्योंकि कहीं अचानक नरेंद्र मोदी कुछ करना दे।
साल 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने राजनीतिक, सामरिक और कूटनीतिक फैसलों से देश और दुनिया को चौंकाया है।
जिस वक्त प्रधानमंत्री 2014 के समय का पद ग्रहण करने वाले थे उस वक्त पाकिस्तान के साथ शीत युद्ध होने की भी आशंका की परंतु बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शपथ ग्रहण के दौरान चीन को भी न्योता भेजा था। जो एक बेहद सोचने वाली बात है। यह भी कार्य अचानक ही हुआ था।
सीमापार आतंकवाद के मामले में पाकिस्तान की पूर्व की नीति बहाल रहने के कारण दोनों देशों के बीच बेहतर रिश्ते परवान नहीं चढ़े। इसी बीच इसी साल 2015 के 15 दिसंबर को अफगानिस्तान से स्वदेश वापसी के क्रम में पीएम मोदी ने अचानक पाकिस्तान में नवाज शरीफ से मुलाकात कर सबको चौंका दिया।
अचानक सेना ने 28-29 सितंबर की रात पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया। उस समय तक किसी को अंदाजा नहीं था कि पीएम पाकिस्तान के खिलाफ इस स्तर का फैसला ले सकते हैं।
बीते चार साल से मोदी अचानक बिना किसी पूर्व कार्यक्रम के सेना के साथ अपनी दीवाली मनाते आ रहे हैं। यह सिलसिला साल 2016 से शुरू हुआ और अब तक जारी है। पीएम ने वर्ष 2016 में लाहौल स्पीति में, साल 2017 में जम्मू-कश्मीर के गुरेज सेक्टर में, साल 2018 में उत्तराखंड के हरसिल में तो बीते साल जम्मू-कश्मीर के राजौरी में सेना के साथ अपनी दिवाली मनाई। हर बार इस कार्यक्रम की किसी को भनक नहीं लगी।
इसके सिवा भारत को ऐसे कई प्रकार के अचानक प्रधानमंत्री के फैसले को देखने को मिला है और देखने को भी मिलेगा।

Advertisement