मोदी के लद्दाख दौड़े के बाद, चीन के सैनिकों के पीछे हटने की आई खबर आखिर प्रधानमंत्री मोदी ने क्या किया है ऐसा कमाल:

पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी पर हुए भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले दिनों सीमा पर तैनात सैनिकों से मिलने पहुंचे तथा उन्होंने घायल सैनिकों से भी बात की। आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच तनाव लगातार जारी है तथा स्थिति युद्ध के कगार पर पहुंच चुकी है।
चीन के नापाक हरकतों को अंजाम देने के लिए भारत की तीनों सेनाओ पूरी तरह से तैनात है तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख दौरे पर भारतीय सैनिकों कोप्रोत्साहित करते हुए कहा कि देश ना कभी किसी के सामने झुका है और ना ही कभी किसी के सामने झुकेगा।
उन्होंने चीन को धिक्कार ते हुए कहा कि अभी भी विस्तार बात करना चाहते हैं परंतु वह जान लें कि आज विस्तार वाद का युग खत्म हो गया है तथा सिर्फ विकासवाद का युग चल रहा है।
इस घटना के पश्चात चीनी मीडिया ग्लोबस टाइम है चीन के नेताओं द्वारा दिए बयान के मुताबिक बताया गया था कि वह भारत के प्रधानमंत्री के दांत दौरे से पूरी तरह से चिंतित थे और उन्होंने कहा कि कोई भी देश अपनी सेना को भड़काए नहीं।

बात ये है कि गलवान नदी के चीनी सेना की तैनाती है और यहां पर ही बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं।

इसके साथ ही सामने आई रिपोर्ट के अनुसार, गलवान नदी के तट पर चीनी सेना की दिक्कते काफी ज्यादा बढ़ सकती हैं। चीनी सेना गलवान नदी के किनारे खड़ी है और यहां पानी का स्तर तट के काफी ऊपर तक पहुंच गया है।

Advertisement