राजीव गांधी के हत्या की आरोपी नलिनी ने किया जेल में आत्महत्या की कोशिश:

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या की दोषी नलिनी श्रीहरन ने सोमवार रात आत्महत्या की कोशिश की है। नलिनी के वकील पुगालेंथी ने बताया कि नलिनी ने बीती रात आत्महत्या की कोशिश की है। नलिनी पिछले 29 वर्षों से जेल में बंद है। वकील ने बताया कि यह पहली बार है कि 29 वर्षों में नलिनी ने जेल के भीतर आत्महत्या की कोशिश की है। इससे पहले उसने कभी भी इस तरह का कोई कदम नहीं उठाया था। घटना की जानकारी देते हुए वकील ने कहा कि नलिनी का जेल के भीतर दूसरे कैदी से झगड़ा हुआ था। दूसरे कैदियों ने इस बारे में जेलर को जानकारी दी, जिसके बाद नलिनी ने आत्महत्या की कोशिश की।

नलिनी के वकील ने कहा कि इससे पहले कभी भी नलिनी ने ऐसा कदम नहीं उठाया, लिहाजा हम जानना चाहते हैं कि आखिर इसकी वजह क्या है, क्यों उन्होंने यह कदम उठाया।

नलिनी के पति भी राजीव गांधी की हत्या के दोषी हैं और वो भी जेल में बंद हैं, उन्होंने जेल से फोन करके अपील की थी कि नलिनी को दूसरी जेल में शिफ्ट किया जाए। उन्हें वेल्लोर से पुझाल जेल भेजा जाए। वकील ने कहा कि हम जल्द ही इसको लेकर अपील दायर करेंगे।

गौरतलब है कि राजीव गांधी की हत्या के लिए सात लोगों को दोषी ठहराया गया था, जिसमे नलिनी और उनके पति भी शामिल हैं। टाडा की विशेष अदालत ने 21 मई 1991 को एलटीटीई के सुसाइड बॉम्ब में राजीव गांधी की हत्या का दोषी माना था। राजीव गांधी श्रीपेरुंबदूर में चुनावी रैली में हिस्सा लेने के लिए यहां गए थे, इसी दौरान उनकी सुसाइड बॉम्ब से हत्या कर दी गई थी। दोषियों को फांसी की सजा सुनाई गई थी, लेकिन बाद में इसे उम्र कैद में बदल दिया गया। नलिनी के अलावा उनके पति मुरगन, एजी पेरिवलम, संथान, जयकुमार, रविचंद्रन, रॉबर्ट प्यास को राजीव गांधी की हत्या का दोषी करार दिया गया था।

Advertisement