लगातार आठवीं बार के बाद अब बंद हुआ कोरोना का म्यूटेशन, वैज्ञानिकों ने दिखाया चमत्कार

 
                                 कोरोना ने देश में लगातार आठ बार म्यूटेट होने के बाद अब रूप बदलना बंद किया है। जहा वैज्ञानिक इसकी दवा या वैक्सीन खोजने में लगे हुए थे वहीं कोरोना हमेशा उत्परिवर्तित हो कर खुद को और भी मजबूत बना रहा था इसी के चलते देश में कोरोना के आठ प्रकार हो गए थे हाल ही में वैज्ञानिकों द्वारा किए गए कोरोना मरीजों के परीक्षण में पता चला कि कोरोना ने अब रूप बदलना बंद कर दिया है और वैज्ञानिकों द्वारा पिछले 80 दिनों तक कोरोना का एक ही तरह का स्ट्रेन पाया गया। साथ ही वायरस के चाल का अंदाजा लगाने के बाद कोरोना के वैक्सीन खोजने का रास्ता भी मिल गया इस माह के अंत तक कोरोना वैक्सीन के मानव परीक्षण पूर्ण होने के बाद अगले महीने में टीका जारी करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए जाएंगे और भारत का यह वैक्सीन बीबीवी 152 नया इतिहास रचेगा वैज्ञानिकों का कहना है किसी भी वायरस के खिलाफ वैक्सीन के सफलता के दर 6 से 7 फीसदी होते है यही कारण है कि सरकार ने वैक्सीन तत्काल हर किसी के लिए उपलब्ध न कराने का फैसला लिया है । वैक्सीन पहले पुलिस के जवानों कोरोना से बचाव कार्य में जुड़े आपदा कर्मचारियों को दी जाएगी और कोई दुष्परिणाम ना मिलने पर किस आयु वर्ग के लोगों को देना है इसका निर्धारण होगा और वहीं वैक्सीन की उपलब्धता पर भी काम किया जाएगा।

Advertisement