मुठभेड़ के बीच मारा गया विकास दुबे का भाई अतुल का बेटा, इस शख्स ने भी बरसाई थी पुलिस पर गोलियां:

उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ के दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस में से एक सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए तथा सात पुलिसकर्मियों को घायल बताया जा रहा है। आपको बता दें कि इस घटना के बाद पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई के दौरान विकास दुबे के छोटे भाई अतुल के बेटे की भी एनकाउंटर में मौत हो गई।घायल पुलिसकर्मियों के बयान के मुताबिक इस शख्स ने भी पुलिस पर लगातार फायरिंग किया था तथा कई पुलिसकर्मियों को जख्मी भी किया था। पुलिस ने उसके साथ ही दस से अधिक बदमाशों को चिह्नित कर लिया है जो गोलियां बरसा रहे थे। इन सभी के नाम एफआईआर में बढ़ाए जाएंगे। आईजी ने बताया कि अतुल का बेटा विपुल दुबे लाइसेंसी बंदूक से फायरिंग कर रहा था। आठ पुलिस कर्मियों की हत्या के बाद वह भी घर छोड़कर भाग निकला था। इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें अलग-अलग ठिकानों पर दबिश दे रही हैं। अतुल विकास का दाहिना हाथ था। उसके सभी कामकाज वही देखता था। इसके बाद बेटे को भी कई जिम्मेदारियां दे रखी थीं।
विकास के घर के सामने ही अतुल का घर है। वारदात के बाद से विपुल परिवार समेत फरार है। इसके साथ ही अतुल के घर के अलग-बलग रहने वाले दोनों भाइयों का परिवार भी मकान में ताला लगाकर निकल गया। जांच में जुटी पुलिस ने शातिरों के नजदीकी और रिश्तेदारों के घर में दबिश दी है।
अतुल के घर में भले ही प्लास्टर नहीं हुआ है लेकिन बगल वाले मकान में जिम बना रखा है। अतुल के साथ ही उसका बेटा और गैंग से जुड़े सभी बदमाश इसी जिम में कसरत करते थे। इसके साथ ही गांव में ही फरारी काटते थे।

Advertisement