विकास दुबे का बयान , मृत पुलिस अफसरों को जलाना चाहता था पर .. मुख्य खबर विस्तार से:

कानपुर में हुए पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़  के दौरान 8 पुलिसकर्मीयो शहीद होंगे तथा 7 घायल बताया जा रहा था। घटना को अंजाम देने वाला मुख्य आरोपी विकास दुबे पूरे सात दिन पुलिस के छापेमारी के बाद पुलिस के हिरासत में आया है । 
विकास दुबे से ने अपने बयान में पुलिस वालो4 से बताते हुए कहा कि  दबिश की जानकारी पुलिस ने भी विकसित की थी। फायरिंग के बाद, पुलिसकर्मियों को इकट्ठा किया गया और एक शव को कुएं के पास कुएं के ऊपर रखा गया, जिसके बाद उन्हें डीजल डालकर जलाने की योजना थी। 
विकास ने कहा कि हम सबूत मिटाने के लिए पुलिसकर्मियों को जलाना चाहते थे, लेकिन टीम के आने के कारण मैं और मेरे सभी साथी अलग-अलग भाग निकले।
उसने कहा, "मुझे इसका अफसोस है, लेकिन मुझे गोली चलाने के लिए मजबूर होना पड़ा।" मैं मंदिर परिसर में बैठकर बहुत रोया हूं। "

Advertisement