पंजाब में भी विश्वविद्यालय व महाविद्यालयों की परीक्षाएं रद्द, विगत वार्षिक अंको के आधार पर होगी छात्रों की प्रोन्नति


                          पंजाब सरकार ने भी प्रदेश के विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों में होने वाली वार्षिक परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। साप्ताहिक फेसबुक लाइव सेशन "कैप्टेन से सवाल" के दौरान पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा "विश्वविद्यालय और कॉलेजों के परीक्षार्थी पिछले सालों के नतीजों के आधार पर प्रमोट किए जाएंगे। हालांकि जो विद्यार्थी अपने प्रदर्शन को और सुधारना चाहते हैं उन्हें कोरोना महामारी का संकट दूर होने के बाद नए इम्तिहानों के लिए मौका दिया जाएगा। विश्वविद्यालय और कॉलेजों की तरफ से इस फैसले को लागू करने के लिए काम किया जा रहा है जिस कारण परीक्षाओं के संबंध में फैसले का ऐलान आने  वाले कुछ दिनों में किया जाएगा।" साथ ही कैप्टेन  ने विद्यार्थियों को सुनहरे भविष्य के लिए पढ़ाई जारी रखने के लिए कहा। हालांकि विश्वविद्यालयों की ऑनलाइन परीक्षाएं बेरोकटोक जारी रहेंगी।

Advertisement