यूपी: शादी के छह साल बाद भी मां नहीं बनने पर पति के खिलाफ धरने पर बैठी पत्नी

मुजफ्फरनगर ( muzaffarnagar news in hindi ) शादी के छह साल बाद भी मां नहीं बनने पर विवाहिता अपनी ससुराल में ही धरने पर बैठ गई। विवाहिता ने आराेप लगाया कि ससुराल के पक्ष के लाेग उसे पति से मिलने ही नहीं देते।

यह भी पढ़ें: राम मंदिर के लिए पवित्र गंगा की मिट्टी लेने शुकतीर्थ पहुंचे विश्व हिंदू परिषद् के कार्यकर्ता, देखें वीडियो

विवाहिता ने ससुरालियों पर उत्पीड़न ( domestic violence ) का आरोप लगाते हुए कहा कि ससुराल के लाेग उसे पति के साथ नहीं रहने देते है। शादी के छह साल बाद आज वह धरना देने पर मजबूर हाे गई है। जब इस घटना की जानकारी पुलिस हुई ताे पुलिस दाेनाें पक्षों काे महिला थाने लेकर पहुंची। यहां काफी देर तक चले हाईवाेल्टेज ड्राम के बाद भी ससुरालिए महिला काे अपने साथ घर ले जाने पर राजी नहीं हुए।

यह भी पढ़ें: अयाेध्या में मस्जिद बनाने वाली कमेटी में मेरठ के फैज आफताब बनाए गए काेषाध्यक्ष

मामला थाना नई मंडी कोतवाली क्षेत्र की भारतीय कॉलोनी का है। यहां गाजियाबाद निवासी विवाहिता तमन्ना अपने पति अमरीश वर्मा के घर के बाहर धरने पर बैठ गई। आरोप है कि पीड़िता काे शादी के बाद ही ससुरालियाें ने घर से बाहर निकाल दिया था। महिला के धरना देने की खबर पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दाेनाें पक्षों को समझाने का प्रयास किया लेकिन ससुराल पक्ष के लाेग महिला काे अपने घर में रखने काे तैयार नहीं हुए। इसके बाद मामला थाने पहुंचा वहां भी ससुराली राजी नहीं हुए।

यह भी पढ़ें: Corona: नाेएडा में 24 घंटे में 64 नए मामले सामने आए अब तक 41 की माैत

इसके बाद पुलिस ने महिला के पति काे थाने बुलाया लेकिन पति भी महिला काे अपने साथ ले जाने के लिए राजी नहीं हुआ। महिला ने बताया कि वह उत्पीड़न की शिकार हाे रही है। शादी के छह साल बीत जाने के बाद भी वह मां नहीं बन सकी है। अब लाेग उसे ताने देने लगे हैं जिससे उसकी जिंदगी नर्क जैसी हाे गई है।

यह भी पढ़ें: 25 लाख की नकली दवाई पकड़ने पर टीम पर हमला. दो ड्रग इंस्पेक्टर घायल, गाड़ी में की तोड़फोड़

इस घटना काे लेकर पुलिस ( muzaffarnagar police) भी हैरान है। महिला ने बार-बार पुलिस से शिकायत कर रही है लेकिन ससुराल पक्ष के लाेग और पति महिला काे अपने साथ रखने के लिए राजी नहीं है। ऐसे में पुलिस काे भी अब समझ नहीं आ रहा है कि आखिरकार पीड़ित महिला के घरेलू के विवाद काे कैसे निपचाया जाए।



Advertisement