कानपुर हत्याकांड : सुबह हुई मुठभेड़ में मारा गया कुख्यात अपराधी विकास दुबे का साथी अमर

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में सुबह  मुठभेड़ में विकास के साथी अमर को STF ने मार गिराया। मुठभेड़ के दौरान मौदहा कोतवाली प्रभारी मनोज कुमार शुक्ला भी घायल हो गए। बताते चले की कानपूर में हुई मुठभेड़ में विकास दुबे के साथ अमर भी शामिल था और पुलिसकर्मियों पर घात लगाए बैठा था।  इस मुठभेड़ विकास दुबे  व् अन्य  बदमाशों ने आठ  पुलिसकर्मियों की निर्ममता से हत्या की थी।  मुठभेड़ के मुख्या आरोपी  ढूंढने में पुलिस  बाद से ही लगी है।  वही विकास का कोई अता पता  नहीं है। विकास को ढूंढने के  लिए STF  के अलावा 100 से ज्यादा पुलिस की टीमें  रात दिन एक कर रही है। विकास दुबे पर रखे गए इनाम को भी बढ़ा कर ढाई लाख कर दिया गया है।  फिर भी न ही किसी आम नागरिक को विकास कही दिख रहा है और न ही STF व् अन्य पुलिस बलों को।हाल ही में राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित श्री सासाराम ओयो गेस्टहाउस हाउस में विकास दुबे और उसके साथियों के छिपे होने की सूचना मिली थी जिसको आधार बनाते हुए क्राइम ब्रांच ने गेस्ट हाउस पर दबिश दी।  लेकिन जब तक क्राइम ब्रांच वहां पहुंचती तब तक विकास अपने साथियों समेत वहां से फरार हो चुका था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वहां पर गोली चलने की आवाज भी सुनाई दी थी लेकिन पुलिस इस बात पर अपना मुँह नहीं खोल रही है।  वही चौबेपुर थाने में तैनात सारे पुलिसकर्मियों को विकास दुबे का साथ व् विकास के लिए मुखबिरी करने आरोप में  लाइन हाजिर कर दिया गया है और पुलिस लाइन से नए पुलिसकर्मियों को ठाणे में तैनात किया गया है।  एसएसपी ने जाँच में  गए आरोपी पुलिसकर्मी  13 दरोगा  10 हेड  कांस्टेबल व् 45 कांस्टेबल को लाइन हाजिर किया है। फील हाल आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ जाँच जारी है। 

Advertisement