कोरोना से हुई इकलौते बेटे की मौत, गम बर्दाश्त ना कर पाए पिता ने भी छोड़ी दुनिया: आगे पढ़े:

भारत में बढ़ते कोरोना के मामले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। आपको बता दें कि पिछले 24 घंटे के अंदर 20000 मामले देखने को मिले हैं। शनिवार के दिन दिल्ली में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 22,771 हो गई है। तथा पूरे देश में इसकी संख्या 6,48,315 हो गई है जबकि 442 और लोगों की मौत होने से मृतक संख्या 18,655 हो गई है। वहीं ओडिशा के गंजम जिला में दिल को झकझौर देने वाली खबर देखने को मिली जहां कोरोना संक्रमित इकलौते बेटे की मौत के कुछ ही घंटों के बाद पति-पत्नी ने भी दुनिया छोड़ दी।
इसी बीच सबको दुखी करने वाली खबर यह है कि
नारायणपुरससन गांव के राजकिशोर सत्पथी और उनकी पत्नी सुलोचना सतपथी अपने 27 वर्षीय शिक्षक बेटे के भुवनेश्वर के एक अस्पताल में निधन हो जाने के बाद मृत पाए गए। दंपति के अविवाहित बेटे को गंजाम में क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। वह कुछ हफ्तों से कोरोना वायरस से संक्रमित था। युवक को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। जिसके बाद उसे भुवनेश्वर के कोविड-19 अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। कोरोना के लक्षण दिखने के बाद युवक का कोरोना टेस्ट किया गया था, जिसमें वह मंगलवार को पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद शुक्रवार सुबह अस्पताल में उसकी मृत्यु हो गई। इकलौते बेटे की मौत का सदमा भी नहीं कर पाने की वजह से कुछ ही घंटों के बाद पति-पत्नी की भी मौत हो गई। इस घटना के बाद पूरे इलाके में गम का माहौल है।

Advertisement