संत बोले नेपाल के प्रधानमंत्री को दिमागी इलाज की जरूरत

गाजियाबाद। नेपाल के प्रधानमंत्री के भगवान राम ( Shree Ram) को लेकर दिए गए बयान पर गाज़ियाबाद के संत समाज ने नाराजगी जताई है। महंत नारायण गिरी जी महाराज और आचार्य योगेश दत्त ने कहा है कि, नेपाल के प्रधानमंत्री ( Nepal Prime Minister Dahal ) के दिमाग का संतुलन खराब हो चुका है। भगवान उन्हे सद्बुद्धि दे। इसके लिए महामृत्युंजय मंत्र के साथ यज्ञ भी किया गया है।

यह भी पढ़ें: ताे क्या कागजों में बंट गए मास्क-सैनेटाइजर ? जान जाेखिम में डालकर सर्वे कर रही आशाएं

इस पूरे मामले को लेकर गाज़ियाबाद के प्रसिद्ध भगवान दूधेश्वरनाथ मन्दिर के महंत नारायण गिरी जी महाराज और आचार्य योगेश दत्त ने कहा कि नेपाल के प्रधानमंत्री ने जो बयान भगवान राम को लेकर दिया गया है वह बेहद निंदनीय है। वह जो भी बयान भारत के प्रति दे रहे हैं चीन के दबाब में या फिर उसके उकसाने पर दे रहे हैं। उन्हे सबसे पहले यह देखना चाहिए कि नेपाल भारत से है। नेपाल के प्रधानमंत्री को सबसे पहले इतिहास के बारे जानना चाहिए। उन्हे यह भी नही मालूम कि नेपाल देश कब बना और किसने बनाया।

यह भी पढ़ें: कार में लिफ्ट देकर सिंचाई विभाग के कर्मचारी की गाेली मारकर हत्या

महंत नारायण गिरी महाराज ने कहा कि, भगवान राम को लेकर नेपाल के प्रधानमंत्री ने जो बयान दिया है वह बेतुका बयान है। 1765 में राजा पृथ्वी नारायण सिंह ने नेपाल बनाया गया था। इससे पहले नेपाल ( Nepal )
भी भारत ( Bharat ) का ही अभिन्न हिस्सा था अभी भी है और भारत का ही हिस्सा रहेगा।



Advertisement